मुख्यमंत्री जितना जल्दी गद्दी छोड़ दें, उतना ही अच्छा है : प्रीतम सिंह

देहरादून : कांग्रेस-सत्ताधारी सरकार में आरोपों-प्रत्यारोपों का दौर जारी है. एक ओर जहां कांग्रेस सरकार द्वारा आचार संहिता का उल्लंघन करने(दाल योजना पर छपी पीएम मोदी-सीएम की फोटा) की शिकायत लेकर राज्यपाल के पास गए तो वहीं सरकार भी कांग्रेस पर दुष्प्रचार का आरोप लगाते हुए शिकायत लेकर राज्यपाल के पास पहुंचे.

मुख्यमंत्री जितना जल्दी गद्दी छोड़ दें, उतना ही अच्छा है-प्रीतम

जिसके बाद पीसीसी चीफ ने सरकार पर हमला किया. प्रीतम सिंह ने सरकार के लोक कल्याणकारी कार्यो में बाधा डालने के भाजपा के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए सरकार पर प्रदेश में डेंगू का कहर रोकने और जहरीली शराब से मौतों का सिलसिला थमने में नाकाम रहने का आरोप लगाया। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री स्वास्थ्य समेत महत्वपूर्ण विभागों को संभालने में विफल रहे हैं। मुख्यमंत्री जितना जल्दी गद्दी छोड़ दें, उतना ही अच्छा है।

प्रमुख विपक्षी दल से उसका हक छीना नहीं जा सकता-प्रीतम सिंह 

कांग्रेस ने प्रदेश भाजपा के राजभवन पहुंचकर कांग्रेस के खिलाफ सौंपे गए ज्ञापन पर सवाल खड़े किए। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि प्रमुख विपक्षी दल से उसका हक छीना नहीं जा सकता। प्रदेश में 4800 से ज्यादा लोग डेंगू की चपेट में है तो ऐसे में डेंगू को महामारी मानने से मुख्यमंत्री के इन्कार पर विश्वास नहीं किया जा सकता।

कांग्रेस ने शराब कांड को लेकर भी सरकार को घेरा. प्रीतम सिंह ने कहा कि रुड़की के बाद टिहरी और अब देहरादून में जहरीली शराब पीने से लोगों को जान गंवानी पड़ी। भाजपा को इन मौतों पर स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए। साथ ही कहा आपदा से उत्तरकाशी जिले में हुई मौत के आंकड़े को लेकर सरकार की चुप्पी खुद ही सवालों के घेरे में है।

प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में पत्रकारों से मुखातिब प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह, पूर्व मंत्री नवप्रभात, उपाध्यक्ष जोत सिंह बिष्ट, महानगर अध्यक्ष लालचंद शर्मा, पूर्व विधायक राजकुमार मौजूद रहे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here