सड़क हादसे में हुई थी बेटे की मौत, बीमा क्लेम लेने पहुंचे तो पैरों तले खिसकी जमीन

रामनगर : हिमाचल से रामनगर आ रही सेब से भरी महेन्द्रा गाड़ी 14 सितंबर को विकासनगर से लगभग 40 किलोमीटर दूर ग्राम छियाडी के पास अनियंत्रित होकर गहरी खाई में गिर गई थी, जिसमे चालक नईम अहमद पुत्र नसीम अहमद निवासी मोहल्ला गूलर घट्टटी रामनगर मौके पर मौत हो गई। मौके पर पहुँचे सरकारी अमले ने मृतक का पोस्टमार्टम कर शव परिजनो को सौंप दिया था. वहीं मौके पर मौजूद पटवारी ने मृतक परिजनो को पोस्टमार्टम रिपोर्ट बाद मे देने की बात कही.

आरटीओ पहुंचे तो पैरों तले खिसकी जमीन

लेकिन उसके बाद मृतक के परिजनों को करारा झटका लगा है. जी हां मृतक के परिजन खुद इसकी जानकारी दी है. उन्होंने बताया कि जब वाहन के क्लेम की बात करने RTO पहुँचे तो अधिकारी ने वाहन के बीमे को गलत बताया जिससे यह बात सुनकर मृतक के परिजनो की पेरों तले जमीन खिसक गई. यह बात सुन परिजन रामनगर पहुँचे और बीमे के दस्तावेज की बीमा एजेन्सी से जाँच कराई गई तो दस्तावेज फर्जी निकले.

न जाने कितने दलाल भर रहे होंगे अपनी जेब

बीमा एजेन्सियों के दलालों के हौसले इतने बुलंद हैं कि सरकारी दस्तावेज फर्जी बनाकर फर्जी मोहर का दस्तावेज पर इस्तेमाल किया गया। न जाने इन दलालों द्वारा कितने फर्जी दस्तावेज लोगों को जारी किये होंगे और मोटी रकम जेब मे भरी होंगी और न जाने कितने शहरो मे ऐसे दलाल काम को अंजाम दे रहे होंगे. न जाने कितने वाहन चालक ऐसे फर्जी दस्तावेज वाहनों के साथ सड़को पर दौड़ रहे होंगे।

शासनिक और प्रशासनिक अधिकारियो को चाहिए कि ऐसे दलालों के खिलाफ कार्यवाही होनी चाहिए और मृतक के परिजनो को इंसाफ मिलना चाहिए। फ़िलहाल मृतक के परिजन बीमा एजेन्सी और दलाल के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करने की बात कह रहे थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here