Video : कैबिनेट मंत्री का खबर उत्तराखंड पर चौंकाने वाला खुलासा, कहा-मेरे खिलाफ राजनौतिक षड्यंत्र

देहरादून। उत्तराखंड में लोकसभा चुनाव की आचार संहिता के बीच कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडेय पर दर्ज मुकदमे ने उत्तराखंड की सियासत जहाँ गर्म कर दी है वहीं कांग्रेस को बीजेपी पर हमला करने का मौका मिल गया है. अरविंद पांडेय के साथ कुंडेश्वरी चौकी में बवाल को लेकर कई लोगों पर भी मुकदमा दर्ज किया गया है।

अरविंद पांडेय ने की खबर उत्तराखंड से बातचीत, रखा पक्ष

वहीं आज पूरे मामले को लेकर अरविंद पांडेय ने खबर उत्तराखंड से बातचीत की और अपना पक्ष रखा कि आखिर वह क्यों कुंडेश्वरी थाने गए और क्या वाक्या वहाँ घटा था…जी हाँ अरविंद पांडेय ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि वह एक सिख व्यक्ति के अपमान में कुंडेश्वरी थाने गए थे…उनका कहना है कि हुआ ये था कि चौकी इंचार्ज के द्वारा अर्जुन गिरी के द्वारा हैलमेट न पहने को लेकर सिख व्यक्ति को रोका गया और कहा कि हेलमेट क्यो नहीं पहना…जिस पर सिख व्यक्ति ने जवाब दिया कि सिख समुदाय के लोगों को हेलमेट न पहनने की छूट है, जिस पर चौकी इंचार्ज ने व्यक्ति को भद्दी गाली दी और उस दौरान उनकी पत्नी और बेटी उनके साथ थी, जिस पर वह व्यक्ति लज्जित हुआ वह खुद के अपनित होने से मेरे पास आया..यहाँ तक कि अपने अपमान से आत्महत्या जैसे कदम उतहने की बात व्यक्ति कर रहा था, जिसके बाद मैं चौकी गया और वहाँ देखते ही देखते भीड़ जुट गई. चौकी इंचार्ज के व्यवहार से क्षेत्र के लोग पहले से परेशान थे और वो भी चौकी पहुंच गए…देखते ही देखते माहौल इतना बिगड़ गया था कि लोग आक्रोशित हो गए लेकिन उन्होंने आक्रोशित लोगों को रोका…जहाँ तक मारपीट की बात है तो किसी तरह की मारपीट चौकी में नहीं हुई है और अगर किसी के पास सबूत है मारपीट के तो वह सार्वजनिक करें।

मेरे खिलाफ राजनौतिक षड्यंत्र – पांडेय

वहीं शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय का कहना कि उनके खिलाफ षड्यंत्र रचा जा रहा है जिससे उनकी छवि को खराब की जा रही है. चौकी में इस तरह कोई बवाल नही हुआ है जिसे मुद्दा बनाया जा रहा है. उनके विरोधी उनके खिलाफ अनावश्यक रूप से चीजों को प्रस्तूत कर रहे हैं. जहां तक खनन माफियों के साथ चौकी का घेराव करने की बात बिल्कुल गलत है. चौकी इंचार्ज ने जिस अभद्र भाषा का उपयोग व्यक्ति के साथ किया है वह बिल्कुल सही नहीं था और इसी को लेकर वह चौकी गए थे।

वीडियो किया जारी

वहीं अरविंद पांडेय पर दर्ज मुकदमे के बाद कुछ लोगों के द्वारा पुलिस की वर्दी में एक दारोगा का वीडियो जारी किया गया जिसमें फर्जी दारोगा रात के अंधेरे में वसूली करते हुए पकड़ा गया है, जिसे आम लोगों के द्वारा पकड़ा गया है और वीडियो बनाया गया है. जिसमे फर्जी दारोगा के साथ एक पुलिस कर्मी भी नजर आ रहा है, जो फर्जी दरोगा को आम जनता से बचाता हुआ नजर आ रहा है. बताया जा रहा है कि चौकी इंचार्ज की शय पर फर्जी दरोगा वसूली को अंजाम दे रहा थे, जिसे आम लोगों ने कुछ दिन पहले पकड़ा था. ऐसे में अगर से वीडियो सही है तो सवाल ये उठता है कि कुंडेश्वरी चौकी में अगर फर्जी दारोगा वसूली करता है तो किसकी शय पर और चौकी इंचार्ज इस पर क्या बोलना चाहेंगे.

प्रदेश प्रभारी पांडेय के बचाओ में उतरे

वहीं उत्तराखंड भाजपा के प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू का कहना है कि कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडेय चौकी में मौहाल खराब करने नहीं बल्कि सिर्फ बात करने गए थे, जिससे साफ होता है कि प्रदेश प्रभारी भी कैबिनेट मंत्री के साथ खड़े हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here