बागेश्‍वर में तेंदुए ने 6 साल की बच्ची को बनाया निवाला, आखिर कब तक?

बागेश्वर- जिला मुख्यालय से सटे नदीगांव में गुलदार (तेंदुए) ने एक 6 साल की बच्ची को निवाला बना लिया। घटना के बाद से पूरे क्षेत्र में दहशत का माहौल हैं। जिले में पिछले चार महीनों में गुलदार का यह चौथा शिकार हैं।

नदीगांव में करीब सात बजे शर्मीली (6) पुत्री धनबहादुर अपने आंगन के पास ही खेल रही थी। उसके मां-बाप भी वहीं करीब ही थे। तभी घात लगाए बैठे गुलदार ने बच्ची पर हमला कर दिया और उसे उठाकर जंगल की ओर ले जाने लगा। हलचल होते ही शर्मीली के पिता धन बहादुर व उनकी पत्नी बाहर आए। उन्होंने गुलदार को बच्ची को ले जाते हुए देखा। जिसके बाद वह गुलदार की पीछे दौड़ते हुए चिल्लाने लगे। आस-पास के लोग भी मौके पर पहुंचे और उन्होंने भी हल्ला मचाया।

100 मीटर की दूरी पर बच्ची को छोड़कर जंगल की ओर भागा

शोर सुनकर गुलदार आंगन से करीब 100 मीटर की दूरी पर बच्ची को छोड़कर जंगल की ओर भाग गया। घायल शर्मीली को परिजन व पड़ोसी अस्पताल ले आए, जहां चिकित्सकों ने बच्ची को मृत घोषित किया। मृतक मूल रूप से नेपाल की रहने वाली हैं। उसके मां-बाप जिला मुख्यालय में मजदूरी का काम करते हैं।

घटना के बाद से क्षेत्र में कोहराम मचा हुआ। क्षेत्रवासियों ने बताया कि कई बार वन विभाग को बताया जा चुका है कि गुलदार का खतरा बना हुआ हैं। लोगों में गुस्सा है. घटना के बाद से लोगों में वन विभाग की कार्यप्रणाली पर आक्रोश जताया.

आखिर कब तक???

आखिर कब तक एक के बाद एक मासूम लोग गुलदार का निवाला बनते रहेंगे औऱ कब तक मासूमों की जान जाती रहेगी. आखिर सरकार और वन विभाग इसके लिए कोइ ठोस कदम क्यों नहीं उठा रहे हैं. ये पहला मामला नहीं है जब ऐसा हुआ बल्कि कई जिलों में ऐसी घटनाएं सामने आई है लेकिन सरकार औऱ विभाग इसे हल्के में ले रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here