उत्तराखंड में बारिश का कहर : भूस्खलन से ये रास्ते बंद और ये रास्ते खोले गए

file photo

देहरादून : उत्‍तराखंड में बारिश के कारण सड़कों पर भूस्खलन की मार जारी है। बारिश के कहर के कारण उत्तराखंड में कई रास्ते बंद हैं। चार धाम जाने के कई रास्ते भूस्खलन के कारण बंद हैं। कई यात्री रास्ते में फंसे हैं। घंटों बाद कई रास्ते खोले गए हैं। मौसम विभाग ने कई जिलों में तेज बारिश का अलर्ट जारी किया है जिसे देखते हुए लोगों को सतर्क रहने की जरुरत है। वहीं बता दें कि ऋषिकेश -बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग-58 तोता घाटी एवं गौचर, क्षेत्रपाल, नंदप्रयाग के पास हिलेरी पार्क, लामबगड़ तथा पागलनाला में मलवा आने के कारण जो मार्ग अवरुद्ध था वह खुल चुका है। ऋषिकेश- केदारनाथ 107 राष्ट्रीय राजमार्ग बांसवाड़ा के पास मलवा आने के कारण जो अवरुद्ध था अब खुल चुका है। उत्तरकाशी में गंगोत्री मार्ग जो बंदरकोट में अवरूद्ध था जो की खुल चुका है। अब उत्तरकाशी जनपद में गंगोत्री और यमुनोत्री मार्ग कहीं भी अवरुद्ध नहीं हैं। ऋषिकेश-गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग 94 बंदर कोट एवं जनपद टिहरी के अंतर्गत चाचा भतीजा होटल नरेंद्र नगर के पास मलबा आने से जो मार्ग अवरुद्ध था वह खुल चुका है। शेष चारधाम यात्रा मार्ग यातायात के लिए खुले हैं।

वहीं कर्णप्रयाग थराली-राष्ट्रीय राजमार्ग, कुलसारी- नारायणबगड़ के बीच हर्मनी एवं थराली-कुलसारी के बीच मलियापौड़ स्थान पर बंद है। पिथौरागढ़ में तवाघाट-सोबला मार्ग खेत में, अस्कोट-जौलजीबी मार्ग लखनपुर में,जौलजीबी-मदकोट मार्ग, जौलजीबी-बलुवाकोट मार्ग पिलखोला में, थल-मुनस्यारी मार्ग हरड़िया में अवरुद्ध है।नैनीताल जिले में बेतालघाट के रामनगर मोटर मार्ग स्थित तल्लीसेठी-बव्वास के पास बृहस्पतिवार की सुबह 9.30 बजे सड़क से मलबा हटा रही जेसीबी के सहायक के ऊपर पत्थर गिरने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here