इस राज्य की सरकार ने लिया बड़ा फैसला, एक हफ्ते के लिए सील कर दिए बॉर्डर

नई दिल्‍ली : दिल्ली सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. दिल्‍ली ने अपनी सारी सीमाएं अगले एक सप्‍ताह के लिए सील कर दी हैं। मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को इसका ऐलान किया। इस दौरान केवल जरूरी सेवाओं से जुड़े वाहनों और व्‍यक्तियों को जाने की परमिशन होगी। सीएम ने दिल्‍ली की जनता से दो बिंदुओं पर राय भी मांगी है। एक ये कि क्या दिल्‍ली के बॉर्डर को बंद ही रखा जाए। और दूसरा कि दिल्‍ली में दूसरे राज्‍यों के लोगों के इलाज को रोका जाए या नहीं।

केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि दिल्‍ली के अंदर कोरोना के मामले काफी बढ़ रहे हैं। यह चिंता की बात तो है मगर घबराने की बात नहीं है। दिल्‍ली के अंदर पिछले पांच साल में आप की सरकार ने अस्‍पतालों में खूब पैसा लगाया है। उन्‍होंने कहा कि दुनिया में जब स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गई हैं, तो दिल्ली का मुख्यमंत्री विश्वास दिला रहा है कि आपके लिए बेड है। आपके लिए बेड का इंतजाम कर लिया गया है। मैंने तीन’चार दिन पहले कहा था दिल्ली में 21 सौ मरीज हैं, लेकिन 6600 बेड हैं। उन्‍होंने कहा कि जल्‍द साढ़े नौ हजार बेड का इंतजाम हो जाएगा।

सीएम ने कहा कि दिल्‍ली में दुकानों के लिए ऑड-ईवन व्‍यवस्‍था लागू थी। मगर केंद्र ने कोई नियम नहीं बनाया है इसलिए दिल्‍ली में अब सारी दुकानें खुल सकती हैं। उन्‍होंने कहा कि सलून खुलेंगे मगर स्‍पॉ खुलने की परमिशन नहीं होगी। ऑटो, ई-रिक्‍शा और अन्‍य गाड़‍ियों ने पैसेंजर्स की संख्‍या तय थी मगर अब वह नियम भी वापस ले लिया गया है। दिल्ली में मोटरसाइकिल पर अब दो लोगों को बैठने की अनुमति दे दी गई है। कार में सिर्फ दो सवारियों की सवारी से जुड़ा नियम भी खत्‍म कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here