शराब के मसले पर गैरसैंण में फंस सकती है सरकार, मिले संकेत !

हल्द्वानी- 
सबकुछ ठीक-ठाक रहा और सत्ता पक्ष समेत विपक्ष ने वापस लौटने की हड़बड़ी नहीं की तो इस बार गैरसैंण के बजट सत्र में टीएसआर सरकार विपक्ष के चक्रव्यूह में बुरी तरह घिर सकती है। इसके संकेत नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने हल्द्वानी में दिए।
विपक्ष के तेवरों पर यकीन किया जाए तो तय है गैरसैंण सत्र में त्रिवेंद्र सरकार को विपक्ष के तीखे सवालों का सामना तो करना ही पड़ेगा साथ ही साथ उसे संतुष्ट भी करना पड़ेगा। खासकर शराब के मसले पर  विपक्ष सरकार को घेरने की पूरी कोशिश करेगा।
 नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश की माने तो विपक्ष सरकार की नई आबकारी नीति का पुरजोर विरोध करेगा। इंदिरा ने कहा कि सरकार की नई आबकारी नीति से राज्य में शराब का कारोबार सिर्फ एक ही कपंनी के हाथ में चला जाएगा। जिससे राज्य के छोटे शराब कारोबारियों को काफी नुकसान होंगा।
वहीं नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि लोकायुक्त गठन के मुद्दे पर भी विपक्ष सरकार से सदन में जवाब मांगेगा। इसके अलावा एनएच 74 मामले में सरकार ने जो अब तक एक्शन लिया है उस पर भी सरकार से जवाब तलब किया जाएगा। इंदिरा ने कहा की गैरसैण को स्थाई राजधानी बनाये जाने, कर्मचारियों के वेतन, सातवे वेतनमान का लाभ और राज्य को मिलने वाले राशन कोटे में कटौती सहित कई मुद्दों पर टीएसआर सरकार को सदन में विपक्ष को जवाब देना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here