द्वितीय केदार भगवान मद्महेश्वर मंदिर के कपाट ग्रीष्मकाल के लिए खुले

बरदीनाथ : 15 मई को बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने जा रहे हैं। वहीं आज समुद्रतल से 11470 फीट की ऊंचाई पर स्थित द्वितीय केदार भगवान मध्यमेश्वर धाम के कपाट सुबह 11 बजे ग्रीष्मकाल के लिए खोले गए।

इस अवसर पर पुजारी टी गंगाधर लिंग ने कपाट खुलने की प्रक्रिया पूरी कर पूजा-अर्चना की। भगवान मद्महेश्वर की समाधि पूजा संपन्न की गयी। इससे पहले मद्महेश्वर की डोली को परिसर में विराजमान किया गया। इस दौरान डोली प्रभारी यदुवीर पुष्पवान, विनोद जमलोकी, विनोद कुंवर, मदन पंवार आदि मौजूद रहे।इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखा गया।

बता दें कि बाबा की उत्सव डोली शनिवार को पंचगद्दी स्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ से रांसी स्थित राकेश्वरी मंदिर के लिए रवाना हुई थी। रविवार सुबह प्रधान पुजारी टी.गंगाधर लिंग के सानिध्य में महाभिषेक, भोग व आरती के बाद डोली ने राकेश्वरी मंदिर की परिक्रमा की और फिर गौंडार गांव के लिए रवाना हुई। लॉकडाउन के चलते सीमित संख्या में हक-हकूकधारी ही डोली के साथ चल रहे हैं। जिसके बाद आज सुबह द्वितीय केदार भगवान मध्यमेश्वर धाम के कपाट खोले गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here