स्वास्थय विभाग का बेड़ा गर्क, सीएम से नहीं संभल रहा आबकारी विभाग, इस्तीफा दें: प्रीतम सिंह

देहरादून : जहरीली शराब पीने से देहरादून में 6 लोगों की मौत हो गई. इसकी भनक कई घंटों तक किसी को नहीं लगी.मृतकों का अंतिम संस्कार कर दिया गया लेकिन शासन-प्रशासन से लेकर किसी को इस बात की भनक नहीं लगी. जब ये सिलसिला लगातार चलता रहा औऱ परिजनों ने हंगामा किया तब सब हरकत में आए. जिसके बाद कई अधिकारियों को सस्पेंड किया गया.

वहीं इस मामले पर कांग्रेस को सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया. कांग्रेस ने सीएम से इस्तीफे की मांग की औऱ साथ ही मृतकों के परिवार वालों को मुआवजा देने की मांगा की है.

यह विभाग भी मुख्यमंत्री संभाल रहे है-प्रीतम सिंह

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि इस घटना से जाहिर हो गया कि राज्य में सरकार नाम की चीज नहीं है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत विभागों को संभालने में विफल साबित हुए हैं। कांग्रेस मुख्यमंत्री से तत्काल इस्तीफा देने की मांग करती है। प्रीतम सिंह ने कहा कि सरकार की नाक के नीचे ही जहरीली शराब का धंधा चलना गजब बात है। रुड़की में जहरीली शराब की दुर्भाग्यपूर्ण घटना से सरकार ने कोई सबक नहीं लिया। जनता सरकार की कार्यप्रणाली से अचंभित है। पूरा प्रदेश पहले से ही डेंगू समेत तमाम बीमारियों की चपेट में है। मुख्यमंत्री के पास स्वास्थ्य मंत्रालय है। इस मंत्रालय का बेड़ा गर्क हो चुका है। अब आबकारी विभाग की बड़ी गलती सामने आ गई है। यह विभाग भी मुख्यमंत्री संभाल रहे हैं। यह भी साबित हो रहा है कि मुख्यमंत्री से विभाग संभल नहीं रहे हैं। इस लापरवाही के चलते जनता की मुसीबत बढ़ रही है।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने अवैध शराब पीने से हुई मौतों पर गहरा दु:ख व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि रुड़की की घटना से सबक सीखा होता तो यह नौबत नहीं आती। सरकार की नाक के नीचे नकली शराब का कारोबार हो रहा है। यह स्पष्ट हो गया कि इसमें सरकार के कारकून

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here