स्कूलों को पूरी तरह खोले जाने का निर्णय जल्दबाजी में नहीं लिया जायेगा : शिक्षा मंत्री

देहरादून : उत्तराखंड में एहतियाती उपायों के तहत मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी करते हुए राज्य सरकार द्वारा कक्षा 10वीं और 12वीं के छात्र-छात्राओं के लिए स्कूल खोले गये हैं। स्कूल खुलने के कुछ दिन बाद ही कई जगह सरकारी और गैरसरकारी स्कूलों में शिक्षक के कोरोना संक्रमित पाए जाने के मामले सामने आये। जिसके बाद कई स्कूलों को कुछ दिन के लिये बंद किया गया। इन स्कूलों को दोबारा खोलने से पहले शिक्षकों का टेस्ट किया गया था। टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद ये स्कूल दोबारा खोले गये हैं।

वहीं शिक्षकों के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद से अभिभावकों को बच्चों की चिंता सताने लगी है। वहीं इस मामले पर शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय का कहना है कि स्कूलों में कोरोना को देखते हुए एहतियात के तौर पर पूरी सुरक्षा अपनाई जा रही है। अच्छी बात यह है कि अभी तक कोई भी छात्र कोरोना पाॅजिटिव नहीं पाया गया है। शिक्षा मंत्री ने कहा कि छात्रों के जीवन से बढ़कर हमारे लिये कुछ भी नहीं है। स्कूलों को पूरी तरह खोले जाने का निर्णय जल्द बाजी में नहीं किया जायेगा। सभी विषयों को देखते हुए निर्णय लिया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here