निर्भया के दरिंदों की फांसी की तारीख 1 फरवरी, पूछी गई आखिरी इच्छा, जानें क्या है

नई दिल्ली : शनिवार एक फरवरी…वो दिन है, जब निर्भया के चारों दोषियों अक्षय, विनय, मुकेश और पवन को सुबह छह बजे फांसी होनी है। पहले इसके लिए 22 जनवरी की तारीख मुकर्रर थी लेकिन गुनहगारों के कुछ मामले लंबित होने के चलते नया डेथ वारंट जारी कर दिया गया। ऐसे में तिहाड़ जेल के अंदर फांसी से पहले होने वाली प्रक्रियाएं तेज हो गई हैं। खबर  है कि जेल प्रशासन ने दोषियों से उनकी आखिरी इच्छा भी पूछी ली है। 

तिहाड़ प्रशासन ने चारों गुनहगारों को नोटिस देकर उनकी आखिरी इच्छा पूछी है। उन्होंने पूछा है कि एक फरवरी को होने वाली फांसी से पहले वह आखिरी बार किससे मिलना चाहते हैं? गुनहगारों से नोटिस में ये भी पूछा गया है कि अगर उनके नाम कोई प्रॉपर्टी है तो फांसी से पहले वो उसे किसके नाम करना चाहते हैं? या फिर उन्हें किसी धार्मिक किताब को पढ़ना हो या फिर किसी धर्मगुरु से मिलने की इच्छा हो तो जेल प्रशासन इसमें उनकी मदद कर सकता है। हालांकि आरोपियों ने इसका क्या जवाब दिया है या नहीं, यह अभी पता नहीं चल सका है।

फांसी से पहले यह चारों बेचैन हैं और फांसी के डर से इनमें से एक विनय खाना नहीं खा रहा। हालांकि सूत्रों ने बताया कि दो दिन तक खाना नहीं खाने के बाद जब उसे बुधवार को बार-बार खाना दिया गया तो उसने थोड़ा सा खाना खा लिया।खबर है कि फांसी की तारीख नजदीक आने पर भी मुकेश और अक्षय पर कोई असर नहीं है। ऐसा इसलिए कहा जा रहा है कि इन दोनों को न तो खाना छोड़ते न ही कम करते पाया गया है। पवन की खुराक कुछ कम जरूर हो गई है। चारों में से मुकेश ही ऐसा दोषी है जो अपने सभी कानूनी विकल्प इस्तेमाल कर चुका है और उसकी दया याचिका भी खारिज हो चुकी  है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here