उत्तराखंड : दीवार फांदकर भागी दो छात्राएं, चढ़ी पुलिस के हत्थे, वॉर्डन पर गंभीर आरोप

लक्सर कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय गोवर्धनपुर एक बार फिर से चर्चा में है जो बीती देर रात्रि विद्यालय में पढ़ने वाली दो छात्राएं दीवार फांद कर विद्यालय से भाग निकली लेकिन कहीं दूर भाग निकलने से पहले ही वो पुलिस के हत्थे चढ़ गई.

लंबे समय से चर्चाओं में कस्तूरबा विद्यालय

बता दे लक्सर तहसील क्षेत्र के गोवर्धनपुर गांव स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय पिछले एक लंबे समय से चर्चा में है. चाहे फूड पाजिंग का मामला रहा हो या फिर वॉर्डन के पति द्वारा आवासीय विद्यालय में रात्रि में रुकने हो। इसी छात्रावास की वार्डन पर छात्राओं को प्रताड़ित करने तथा विद्यालय में ना रुकने समेत तमाम तरह के मामलों को लेकर विद्यालय लगातार लंबे समय से सुर्खियों में रहा है। विद्यालय में पढ़ने वाली छात्राओं के अभिभावकों तथा ग्रामीणों की तमाम शिकायतों के बावजूद आज तक वार्डन के विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है. यह आलम तब है कि वार्डन की गई जांच में कई बार खामियां उजागर हो चुकी है. इन सबके बावजूद आजतक वार्डन के विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है इस पर विभागीय अधिकारी भी सवालों के घेरे में है.

5 और 6 की पढ़ने वाली दो सगी बहनें दीवार फांदकर भागी

मामला बीती रात का है विद्यालय पढ़ने वाली कक्षा 5 और 6 की पढ़ने वाली दो सगी बहनों रात्रि 3:00 बजे विद्यालय की दीवार फांद कर विद्यालय से भाग निकली. रास्ते में गश्त कर रहे पुलिस के हत्थे चढ़ गई.

वॉर्डन पर लगाए गंभीर आरोप

पूछताछ में उन्होंने वॉर्डन पर कई गंभीर आरोप लगाए आरोप है कि वार्डन द्वारा प्रताड़ित किए जाने से आहत होकर उक्त छात्राएं रात में विद्यालय की दीवार फांद कर भागने को विवश हुई। गनीमत रही कि उक्त छात्राएं पुलिस के हत्थे चढ़ गई यदि किसी अनजान व्यक्ति के हत्थे चढ़ जाती तो एक बड़ा बड़ा मामला हो जाता. छात्राओं के परिजनों ने विद्यालय की वार्डन पर छात्राओं को प्रताड़ित करने आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है. इस दौरान मौके पर एकत्रित बड़ी संख्या में ग्रामीणों द्वारा विद्यालय गेट पर जमकर हंगामा किया गया।

वहीं पुलिस क्षेत्राधिकारी राजन सिंह ने कहा कि देर रात्रि गश्त के दौरान कस्तूरबा गांधी अवश्य विद्यालय की दो छात्राएं पुलिस को मिली जिनको आवासीय विद्यालय के सुपुर्द कर दिया गया है इस दौरान कोई भी बड़ा हादसा हो सकता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here