आयुष्मान योजना में घपले ही घपले, सरकार ने रोके 52 लाख

देहरादून: उत्तराखंड अटल आयुष्मान योजना में एक के बाद एक लगातार घपले-घाटाले सामने आ रहे हैं। अब तक देहरादून, हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर में 12 मामले सामने आ चुके हैं। जांच के बाद शासन ने अस्पतालों का बाकाया 52 लाख का क्लेम रोक दिया है। हालांकि इस फैसले से पहले ही सरकार इन अस्पतालों को 52 लाख रुपये दे चुक थी।

अब तक 12 निजी अस्पतालों में फर्जीवाड़े का खुलासा हो चुका है। इसमें ऊधमसिंह नगर, हरिद्वार और देहरादून जनपद के अस्पताल शामिल हैं। आयुष्मान योजना में खूब फर्जीवाड़ा हो रहा है। विभागीय अधिकारियों का कहना है कि फर्जीवाड़ा करने वाले अस्पतालों का बकाया भुगतान तत्काल प्रभाव से रोका गया है। यदि अस्पताल प्रबंधन की तरफ से नोटिस का सही जवाब नहीं मिलता है तो उनसे रिकवरी भी की जाएगी।

योजना के तहत अब तक प्रदेश में 44 हजार 460 मरीजों का इलाज हो चुका है। जिस पर 45 करोड़ की राशि खर्च हो चुकी है। जबकि 360 मरीजों का प्रदेश से बाहर कैशलेस इलाज कराया गया, जिसमें 80 लाख रुपये का क्लेम दिया गया। आयुष्मान योजना के निदेशक अभिषेक त्रिपाठी का कहना है कि योजना में गड़बड़ी सामने आने पर अस्पतालों का भुगतान रोका गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here