पहाड़ से हौसले वाली हैं पहाड़ की बेटियां, अब IAS बन करेंगी नाम रोशन

UPSC EXAM

 

पहाड़ की बेटियों के हौसले भी पहाड़ से होते हैं। बस देर उनके पंखों को आसमान मिलने की होती है। पहाड़ की बेटियां साबित कर देती हैं कि वो किसी से कम नहीं हैं।

आज दो ऐसी ही बेटियों की कहानियां आप से साझा कर रहें हैं। पहली कहानी दीक्षा जोशी की है। दीक्षा सुदूरवर्ती जिले पिथौरागढ़ की रहने वाली हैं। हाईस्कूल तक की पढ़ाई पहाड़ में करने वाली दीक्षा के मन में शायद कभी ये आया होगा कि वो एक दिन पहाड़ की बेटियां का मान सम्मान और ऊंचा करेंगी।

देहरादून से इंटर और फिर जॉलीग्रांट से एमबीबीएस की पढ़ाई पूरा करने के बाद दीक्षा ने अपने सपने को जीने की कोशिश की और UPSC की परीक्षा दी। UPSC परीक्षा में 19वीं रैंक लाकर दीक्षा ने बता दिया कि पहाड़ की बेटियां किसी से कम नहीं हैं।

दिलचस्प ये भी है कि दीक्षा के पिता सक्रिय राजनीति में हैं और बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता भी हैं।

DIKSHA JOSHI UPSC 19TH RANK

बिछड़े बच्चों से मिलती मां की ये तस्वीरें देख उत्तराखंड पुलिस को आप सैल्यूट करेंगे

वहीं दीक्षा की इस उपलब्धि पर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत भी फूले नहीं समा रहें हैं। हरीश रावत ने खुले मन से सोशल मीडिया पर दीक्षा को बधाई दी।

हरीश रावत ने लिखा, दीक्षा जोशी को विशेष बधाई, एक सक्रिय राजनीतिक परिवार की बेटी ने अपने परिवार का गौरव भी बढ़ाया है, अपने माँ-बाप का गौरव बढ़ाया है और हम सब का गौरव भी बढ़ाया है।

 

GITIKA TAMTA UPSC 239TH RANK

पहाड़ की ऐसी ही एक बेटी हैं गीतिका। मूल रूप से गीतिका का परिवार पिथौरागढ़ का रहने वाला है। फिलहाल गीतिका का परिवार देहरादून के हर्रावाला में रहता है। गीतिका ने 2020 में एनआईटी कुरुक्षेत्र से सिविल इंजीनियरिंग की है। इसके बाद वो सिविल सेवा की तैयारी में लगीं। बिना कोचिंग लिए और सेल्फ स्टडी के सहारे वो सिविल सेवा परीक्षा में मुकाम बनाने में कामयाब रहीं। 23 साल की गीतिका को 239वीं रैंक मिली है। गीतिका के पिता अपना बिजनेस करते हैं जबकि उनकी मां आबकारी इंस्पेक्टर हैं।

GARIMA NAGPAL UPSC IAS

ऐसी ही एक और बेटी हैं गरिमा नागपाल। खटीमा निवासी गरिमा नागपाल भी अपने तीसरे प्रयास में UPSC की परीक्षा पास कर चुकी हैं। गरिमा की सफलता से उनका परिवार बेहद खुश है। गरिमा इससे पहले CLAT की परीक्षा भी पास कर चुकी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here