आखिर कब बंद होगी निजी स्कूलों की मनमानी, उड़ा रहे सरकार के आदेश की खिल्ली

लालकुआँ- सरकार के तमाम प्रयासों के बावजूद भी निजी विद्यालयों में फीस वृद्धि की मनमानी थमने का नाम नहीं ले रही है।

निजी स्कूलों द्वारा एक बार फिर मनमानी करने का नया मामला सामने आया है. लालकुआं में अभिभावकों ने निजी स्कूलों द्वारा वार्षिक शुल्क के नाम पर वसूली करने का आरोप लगाया और संयुक्त मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंपते हुए उचित कार्यवाही की मांग की।

तहसील परिसर पहुंचे अभिभावकों ने गोरा पड़ाव स्थित बी एल एम एकेडमी स्कूल पर आरोप लगाते हुए कहा कि वार्षिक शुल्क के नाम पर उनसे विद्यालय प्रबंधन मोटा पैसा वसूल रहा है जबकि शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे द्वारा सभी विद्यालयों को निर्देशित किया गया है कि वार्षिक शुल्क के नाम पर किसी तरह का शुल्क नहीं लिया जाए।

ज्ञापन देने पहुंचे अभिभावको का कहना है कि अप्रैल माह की फीस में वार्षिक शुल्क के नाम पर 7000 और दिसंबर माह की फीस में 4500 अन्य शुल्क के रूप में विद्यालय प्रबंधन द्वारा मांगे जा रहे हैं औऱ मनमानी कर रहे हैं. अभिभावकों ने संयुक्त मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंपते हुए इस तरह की अनुचित वसूली पर रोक लगाने एवं उचित कार्यवाही की मांग की है।

इधर हल्द्वानी स्थित आर्यमान विक्रम बिरला स्कूल पर भी अन्य शुल्क लिए जाने की शिकायत अभिभावकों ने संयुक्त मजिस्ट्रेट से की है। अभिभावकों का कहना है कि यदि निजी स्कूल फीस वृद्धि पर तत्काल रोक नहीं लगाते हैं और ज्ञापन देने के बाद भी कोई उचित कार्यवाही अमल में नहीं लाई जाती है तो सभी अभिभावक मिलकर आंदोलन को बाध्य होंगे।

वहीं संयुक्त मजिस्ट्रेट सौरभ गहरवार का है कि वह पूरे मामले पर शिक्षा विभाग से जानकारी लेंगे यदि शिक्षा विभाग के नियमों के विपरीत कोई भी विद्यालय कार्य करता पाया जाएगा तो उसके खिलाफ जांच करवा कर आवश्यक कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

सरकार के आदेश के बाद भी ये निजी स्कूल अभिभावकों को लूट रहे हैं और सरकार के आदेश की जमकर खिल्ली भी उड़ा रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here