मल मूत्र विसर्जन गाड़ी को रवाना करके सतपाल महाराज ने पर्यटन बढ़ाने की ओर उठाये कदम

देहरादून। पर्यटक सूचना केन्द्र जैसी मौजूदा सुविधाओं के साथ ही यात्रा स्थलों पर जहाँ शौचालय और टॉयलेट की व्यवस्था नहीं है। उन स्थानों पर पर्यटकों के लिए पर्यटन विभाग द्वारा मोबाइल शौचालय स्थापित किये जाने की पहल की गई है।

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने आज यहाँ अपने सरकारी आवास 17 सुभाष रोड़ पर एकात्म मानववाद व अंत्योदय के प्रणेता प्रखर राष्ट्रवादी पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए मोबाइल शौचालय को जार्ज एवरेस्ट, मसूरी के लिए रवाना किया। महाराज ने कहा कि  प्रखर राष्ट्रवादी और हमारे पथ प्रदर्शक पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर उनका स्मरण करते हुए पर्यटकों के लिए अत्याधुनिक मोबाइल शौचालयों की सुविधा देने का आज शुभारंभ किया जा रहा है। उन्होने कहा कि चार धाम यात्रा को साफ सुथरा तथा यात्रा मार्ग पर यात्रियों को सुविधा प्रदान करने की दृष्टि से उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद के अंतर्गत चारधाम यात्रा मार्ग पर शौचालयों, पर्यटक सूचना केंद्रों तथा बस शेल्टर का उच्चीकरण किया जा रहा है जिसके तहत प्रथम चरण में 54 शौचालयों के उच्चीकरण एवं आधुनिकरण का कार्य पूर्ण किया जा चुका है।

सतपाल महाराज ने कहा कि ये सभी  शौचालय जिनमें देहरादून में 7, टिहरी में 24,  रुद्रप्रयाग में 8 एवं उत्तरकाशी जनपद में 15 शौचालयों का उच्चीकरण किया जाना है। जबकि द्वितीय चरण में पौड़ी एवं चमोली जनपद के 37 शौचालयों का उच्चीकरण प्रस्तावित है। उन्होंने बताया कि आधुनिक मोबाइल शौचालयों को इसी योजना के तहत लगाये जाने का एक सार्थक प्रयास है। पर्यटन मंत्री ने बताया कि अत्याधुनिक मोबाइल शौचालयों को कहीं भी सुविधानुसार लगाया जा सकता है। महाराज ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रथम चरण में 5 मोबाइल शौचालयों की व्यवस्था की जा चुकी है। जो कि मसूरी एवं जॉर्ज एवरेस्ट में लगाए जाने हैं। उन्होने बताया कि मोबाइल शौचालय में पुरुष एवं महिलाओं के लिए अलग-अलग व्यवस्था है। महिला शौचालय में 3 सीट और पुरुष शौचालय में 2 सीट एवं एक यूरिनल पोट लगाया गया है। इसमें 2 किलो वाट का सोलर प्लांट भी लगाया गया है जो कि इस मोबाइल शौचालय की बिजली की जरूरत को पूरा करेगा। इसमें 1000 लीटर पानी का टैंक तथा पानी के टैंक को भरने के लिए मोटर की व्यवस्था है जिससे पानी को लिफ्ट करके कहीं से भी भरा जा सकता है। उन्होंने बताया कि सीवर के कनेक्शन के लिए 750 लीटर क्षमता का टैंक इस शौचालय में लगाया गया है तथा इसे एक स्थान से दूसरे स्थान पर आसानी से ले जाया जा सकता है। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने बताया कि अभी कुल 14 मोबाइल शौचालय खरीदना प्रस्तावित है, जिसमें से 5 खरीदे जा चुके हैं। हरिद्वार में चार, जॉर्ज एवरेस्ट मसूरी में पांच, चोपता तुंगनाथ में एक, सतपुली में एक, कौड़ियाला में एक, कण्वाश्रम में एक और कालीमठ में एक शौचालय लगाया जाना प्रस्तावित हैं।

उन्होंने बताया कि एक मोबाइल शौचालय की लागत लगभग 16.50 लाख है। जिसे और कम किये जाने का प्रयास किया जा रहा है। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि हमारा प्रयास है कि उत्तराखंड आने वाले पर्यटकों को किसी प्रकार की कोई भी असुविधा न हो। हमने उत्तराखंड आने वाले पर्यटकों को कई रियायतें भी दी हैं। इसलिए निश्चित रूप से अब पर्यटक उत्तराखंड की ओर रूख अवश्य करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here