कैबिनेट मंत्री का बयान, लेटर वायरल करने की साजिश में शामिल अधिकारी-कर्मचारी की कराई जाएगी पहचान

हरिद्वार : बीते दिनों से कैबिनेट मंत्री का एक लेटर वायरल हो रहा है. इस मुद्दे को कांग्रेस ने लपक लिया और सरकार पर जमकर हमला किया। ये लेटर है कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद का। बता दें कि कैबिनेट मंत्री के लेटर पैड से आबकारी विभाग के अधिकारी के तबादले के आदेश के वायरल होने के बाद कैबिनेट मंत्री ने बयान जारी किया है। कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद का कहना है कि मंत्री और विधायकों के पास आमजन से लेकर सरकारी अधिकारी कर्मचारी अपनी फरियाद लेकर आते हैं। अधिकारी और कर्मचारी अपनी पारिवारिक या अन्य किसी भी तरह की समस्या बताकर अपने स्थानांतरण की मांग रखते हैं, जिस पर लेटर जारी करना पड़ता है।

कैबिनेट मंत्री ने कहा कि कर्मचारी एक आवश्यक अंग है। इसी के चलते हुए आबकारी अधिकारी की फरियाद पर लेटर जारी कर दिया गया। कैबिनेट मंत्री का कहना है कि अब कुछ लोग उसका गलत तरीके से प्रचार कर रहे हैं, जबकि ऐसा कुछ नहीं है। कैबिनेट मंत्री ने कहा कि कुछ लोगों की केवल बदनाम करने की साजिश रहती है। भाजपा की राज्य सरकार भ्रष्टाचार मुक्त होकर काम कर रही है। विरोधी पार्टियों को यह पच नहीं रहा है।

कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद ने कहा कि लेटर वायरल करने की साजिश में शामिल अधिकारी-कर्मचारी की पहचान कराई जा रही है। विभाग की गोपनीयता भंग करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here