वर्दी पहन शहीद पति की पार्थिव देह लेने पहुंची स्क्वाड्रन लीडर पत्नी, भावुक कर देंगी तस्वीरें

चंडीगढ़ : 27 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के बड़गाम में एमआई-17 हेलीकाॅप्टर क्रैश होने से शहीद हुए सेक्टर-44 के स्क्वाड्रन लीडर सिद्धार्थ वशिष्ठ शहीद हो गए. जिनके पार्थिव शरीर को उनके पैतृक गांव लाया गया है। स्क्वाड्रन लीडर सिद्धार्थ वशिष्ठ की पार्थिव देह का आज शुक्रवार को अंतिम संस्कार होगा। सुबह साढ़े दस बजे आर्मी फ्लैट्स स्थित मकान नंबर 63 से उनकी अंतिम यात्रा सेक्टर-25 स्थित शमशान घाट के लिए निकले. इसी दौरान ही उन्हें गार्ड ऑफ ओनर दिया गया.

इससे पूर्व उनकी पार्थिव देह को दिल्ली में 12 विंग एयरफोर्स स्टेशन लाया गया, जहां उनकी पत्नी स्क्वाड्रन लीडर आरती वशिष्ठ अपनी वर्दी में एयरफोर्स के अधिकारियों के साथ पार्थिव देह लेने के लिए पहुंचीं। इसके बाद अब एयरफोर्स के अधिकारियों के साथ स्क्वाड्रन लीडर आरती वशिष्ठ अपने पति शहीद स्क्वाड्रन लीडर सिद्धार्थ वशिष्ठ की पार्थिव देह को घर लेकर पहुंची हैं।

बता दें इस दौरान स्क्वाड्रन लीडर सिद्धार्थ वशिष्ठ के साथ  4 और एयरफोर्स सर्विसमैन शहीद हुए हैं। इनमें एक सरजेंट, 2 कॉर्पोरल रैंक, एक स्क्वॉडन लीडर सहित एक नागरिक की जान गई है।

मिली जानकारी के अनुसार 2013 में ही शहीद सिद्धार्थ वशिष्ठ ने एयरफोर्स में स्क्वॉडन लीडर आरती सिंह से शादी की थी। और वो महज 31 साल की उम्र में वह देश के लिए शहीद हो गए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here