चालान काटने पर सिपाही की जमकर धुनाई, मौका देख दारोगा रफूचक्कर

नए ट्रैफिक चालान का नियम आने के बाद से चालान को लेकर हो रहे विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। ताजा मामला गाजीपुर में आया है। यहां के सादात थाना क्षेत्र के मौधियां में गुरुवार की शाम वाहन चेकिंग के दौरान पांच सौ रुपये फाइन लेने के बाद  भी चालान की रसीद नहीं देने पर लोगों ने दरोगा और सिपाही को घेर लिया। लोगों का आक्रोश देख दरोगा तो भाग निकला लेकिन सिपाही नहीं बच सका। लोगों ने सड़क पर भरे पानी में सिपाही को गिरा गिरा कर पीटा। मौके से भागे दरोगा की सूचना पर पुलिस फोर्स पहुंची तो सिपाही की जान बची। पुलिस ने पांच लोगों को हिरासत में लिया है। कुछ लोगों ने पूरी घटना का वीडियो भी बनाकर वायरल कर दिया है।

मी़डिया रिपोर्ट्स के अनुसार दरोगा आनंद भारती और सिपाही प्रमोद सिंह सादात के मौधियां में वाहन चेकिंग कर रहे थे। चेकिंग के दौरान बिना हेलमेट के जा रहे दो बाइक सवार युवकों को पुलिस ने रोका। चालान के नाम पर इनसे पांच सौ रुपये ले लिये। युवकों ने रुपये की रसीद मांगी तो पुलिस वालों ने नहीं दी। इस पर विवाद शुरू हो गया। इस पर सिपाही ने युवक को धक्का दे दिया। इससे ग्रामीण भड़क गए और सिपाही को दबोच कर पीटने लगे। इससे पहले कि लोग दारोगा पर भी टूट पड़ते वह सिपाही को छोड़कर भाग निकला। दरोगा के भागते ही लोग सिपाही को सड़क पर भरे पानी में ही गिरा गिरा कर पीटते रहे। सिपाही किसी तरह खुद को बचाने की कोशिश करता रहा। दरोगा की सूचना पर कई थानों की फोर्स पहुंच गई।

थानाध्यक्ष रविन्द्र भूषण मौर्य ने बताया कि एसआई व दीवान एक मामले की जांच में मौधियां गये थे। यहां पर संदिग्ध दिखने पर दो बाइक सवारों को चेकिंग के लिए रोकने पर ग्रामीणों संग गोलबंद होकर युवकों ने पुलिस पर हमला कर दिया। इसकी जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी। वहीं, ग्रामीणों का आरोप था कि पुलिसकर्मी वाहन चेकिंग के नाम पर उत्पीड़न कर रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here