…तो 6 साल बाद राज्य में कोई नहीं रहेगा गरीब

17
चमोली-  आप मानो या न मानो लेकिन उत्तराखंड राज्य में आने वाले 6 साल बाद कोई गरीब नहीं रहेगा। सूबे की सरकार का मानना है कि 6 साल बाद यानि 2022 में राज्य में राज्य का हर नागरिक गरीबी का दामन झटक कर खुशहाल जीवन जिएगा। जिंदगी जीने में आम आदमी को कोई आर्थिक तकलीफ नहीं होगी। गौचर में सूबे के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने उम्मीद जताई कि अगर उनकी राज्य में चलाई जा रही विकास योजनाओं पर सलीके से काम चलता रहा और विकास योजनाओं का  जो खाका उन्होंनें खींचा है उसे मुकाम मिल गया तो 2022 तक राज्य से गरीबी को पूरी तरह खत्म  हो जाएगी। इसके लिए सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करते हुए 500 स्कूलों को माॅडल स्कूल है। नई पीढी शिक्षित होगी को राज्य को विकास मिलेगा। जबकि हस्तशिल्प, दस्तकारी से लघु, कुटीर उद्योगों का विकास होगा। इससे 50 हजार लोगों को रोजगार देने का लक्ष्य रखा गया है। तय है कि शिक्षा,लघु उद्योग और हस्तशिल्प राज्य से गरीबी का नामों-निशां मिटा देगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here