उत्तराखंड के शिक्षकों पर SIT का शिकंजा, नकली डिग्री पर नौकरी कर रहे शिक्षक

हरिद्वार : उत्तराखंड में फर्जी जाति प्रमाणपत्रों के आधार पर नौकरी पाने वाले शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई जारी है. जी हां एसआईटी ने जांच में चार और शिक्षकों पर शिकंजा कसने जा रही है.

मिली जानकारी के अनुसार एसआईटी ने जांच में हरिद्वार के चार और शिक्षकों के जाति प्रमाणपत्र फर्जी पाए हैं. जिन्होंने फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नौकरी पाई थी। एसआईटी इन शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई के लिए शिक्षा निदेशालय को संस्तुति भेजने की तैयारी में है।

आपको बता दें कि एसआईटी जांच में अब तक करीब 74 शिक्षकाें की डिग्री और जाति प्रमाण पत्र फर्जी पाए गए हैं। इनमें से अभी 34 मामलों में ही मुकदमे हो पाए हैं। बाकी प्रकरण न्यायालय अथवा विभागीय स्तर पर विचाराधीन हैं। फिलहाल एसआईटी के पास शिक्षकाें के करीब 20 हजार प्रमाणपत्र सत्यापन के लिए शेष रह गए हैं। सत्यापन के दौरान ही हरिद्वार के चार और शिक्षकों के जाति प्रमाणपत्र फर्जी पाए गए। यह चाराें शिक्षक उत्तराखंड से बाहर के रहने वाले हैं। इन सभी शिक्षकों पर फर्जी प्रमाण पत्र के जरिए नौकरी पाने का आरोप है जिस पर एसआईटी शिकंजा कसने जा रही है. देखने वाली बात होगी कि आखिर उत्तराखंड में कितने शिक्षक हैं जो फर्जी प्रमाण पत्र के जरिए नौकरी पाए बैठें हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here