शहीद की पत्नी ने जुड़वा बच्चों को दिया जन्म, बोली- दोनों को सेना में भेजूंगी, बड़े होने का इंतजार

देहरादून : 8 महीने पहले देश की रक्षा करते हुए अपनों प्राणों की आहूति देने वाले वीर जवान की पत्नी ऐसी बात कही की जिसने भी सुना उस पर फक्र महसूस किया. जी हां 8 महीने पहले पति की शहादत के बाद शहीद की पत्नी रुपी ने दो जुड़वा बच्चों को जन्म दिया जिसमें एक बेटी और एक बेटा है. शहीद की पत्नी ने इस दौरान कहा कि ‘मुझे बस, इनके बड़े होने का इंतजार है, दोनों को सेना में ही भेजूंगी।

वो दिन को कभी नहीं भूल सकती, जब उसका पति तिरंगे में लिपटकर आए-पत्नी

मीडिया रिपोर्ट की मानें तो शहीद की पत्नी रूपी ने कहा कि 26 सितम्बर 2017 के उस दिन को कभी नहीं भूल सकती, जब उसका पति तिरंगे में लिपटकर आए। शहीद की पत्नी ने कहा कि पति के शहीद होने के बाद ये 8 महीने उसे 8 साल जैसे लगे.

भगवान नेपति के निशानी के रुप में बेटा दिया तो लक्ष्मी भी दी- रुपी

रुपी ने कहा कि भगवान ने मेरी प्रार्थना सुनकर पति की निशानी के रूप में एक बेटा तो दिया ही, साथ में लक्ष्मी रूप में बेटी से भी गोद भर दी। वहीं शहीद की मां ने बेटे की शहादत को याद कर भगवान का शुक्रिया अदा किया और कहा कि मेरा गणपत छोटे रूप में वापस आ गया है।

शहीद के पिता का कहना-प्रतिफल में भगवान ने मुझे उस बेटे के साथ बेटी भी देकर मेरी झोली भर दी

वहीं शहीद के पिता पूनाराम ने अपने घर पौत्र व पौत्री के जन्म लेने की खुशी में कहा कि देश ने मेरे बेटे को अपनी सेवा में लिया, प्रतिफल में भगवान ने मुझे उस बेटे के साथ बेटी भी देकर मेरी झोली भर दी।

26 सिंतबर 2017 पाक फायरिंग में हुए थे शहीद

आपको बता दें 26 सिंतबर 2017 को जम्मू कश्मीर के तंगधार सेक्टर में पाकिस्तान की तरफ से की जा रही गोलीबारी में जोधपुर के गणपत राम शहीद हो गए थे. जोधपुर जिले के ओसियां क्षेत्र के खुड़ियाला गांव निवासी 24 वर्षीय गणपत राम कड़वासरा गंभीर रूप से घायल हो गया थे जिन्हे उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया लेकिन उन्होंने वहा दम तोड़ दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here