शहीद प्रमोद सजवाण की मां का निधन, जिंदगी बचाने के लिए आगे आए थे कई लोग

देहरादून : शहीद प्रमोद सजवाण की माता जी ने आज सुबह मैक्स हॉस्पिटल में आखिरी सांस ली। बता दें शहीद की मां को बचाने के लिए देशभर से लोग आगे आए थे…लोगों ने ये बताया था कि शहीद के परिवार केसाथ वो हमेशा खड़े हैं…लोगों ने बताया था कि शहीद का परिवार अकेला नहीं है. वहीं पत्नी के निधन के बाद शहीद के पिता बीएस सजवाण ने सभी रक्तदाताओं को उनकी पत्नी को रक्तदान करने के लिए आभार जताया है।

कैंसर से पीड़ित शहीद की माँ कई दिनोंं से थी मैक्स हॉस्पिटल में भर्ती

आपको बता दें शहीद प्रमोद सजवाण की कैंसर से पीड़ित शहीद की माँ कई दिनों से दिल्ली के मैक्स हॉस्पिटल में भर्ती थी। जिनको खून की बार बार जरूरत पड़ रही है। वहीं इससे पहले शहीद की मां को कुछ छात्र रक्तदान कर चुके थे लेकिन रक्त की कमी पूरी नहीं हो रही थी. वहीं सोशल मीडिया औऱ हिंदुस्तान पत्रिका ने शहीद की मां की मदद के लिए लोगों से गुहार लगाई थी.

पूरा उत्तराखंड और देश की जनता शहीद परिवार के साथ खड़ी हुई

जिसके बाद देहरादून ही नहीं देश के कई राज्यों के लोगों ने फोन किया और साथ ही हॉस्पिटल पहुंच कर शहीद की मां के लिए रक्तदान करने की इच्छा जताई. देहरादून से युवक-युवतियां और महिलाएं शहीद की माँ को बचाने के लिए अपना रक्तदान करने अस्पताल पहुंचे। उन्होंने बताया कि वो शहीद के परिवार के साथ हैं. लेकिन उन्हें नहीं बचाया जा सका…शहीद प्रमोद सजवाण की माता जी का आज सुबह मैक्स अस्पताल में निधन हो गया. 

आपको बता दें शहीद प्रमोद सजवाण के पिता ITBP में बतौर सब इंस्पेक्टर के पद से 1996 को रिटायर्ड हुए। जिसके बाद उन्होंने केंद्रीय विद्यायल में बतौर प्राचार्य के पद पर रहते काम किया औऱ वहां से भी सेवानिवृत्त हुए. उन्होंने सभी रक्तदान करने वाले लोगों का धन्यवाद किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here