VIDEO : पिस्टल लिए युवक के सामने सीना तानकर खड़े रहे कांस्टेबल दीपक, हाथ में था सिर्फ डंडा, बोले-मैं डरता तो…

दिल्ली हिंसा में अब तक 42 लोगों की मौत हो चुकी है जिसमे एक दिल्ली पुलिस का कांस्टेबल तलन लाल और एक आईबी कर्मचारी अंकित शर्मा भी शामिल हैं. परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। वहीं दिल्ली हिंसा के दौरान मौजपुर में पिस्टल थामे युवक से सामने लाठी लेकर खड़े दिल्ली पुलिस के एक जवान की तस्वी औऱ वीडियो खूब वायरल हो रही है। वहीं दीपक दहिया का साहस भरा वीडियो भी सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा है और हर कोई उनके साहस की तारीफ कर रहा है।

पिस्टल लिए युवक के सामने सीना तानकर खड़े रहे दीपक

वीडियो में साफ देख सकते हैं कि एक निडर पुलिसकर्मी हाथ में पिस्टल लिए युवक के सामने सीना तानकर खड़ा है जो की दीपक दहिया हैं। दीपक दहिया युवक की पिस्टल के करीब खड़े रहे और डरे नहीं। उसने सामने से नहीं हटने पर गोली मारने की धमकी भी दी थी। उस समय अदम्य साहस का परिचय देते हुए दीपक दहिया ने उसे डंडे से इशारा कर वापस जाने के लिए कहने लगे। हिन्दुस्तान में छपी खबर के अनुसार, इस बीच पीछे से फायरिंग करने के लिए भीड़ युवक को उकसा रही थी। उसी दौरान दिल्ली पुलिस के अन्य जवानों ने दूसरी तरफ की भीड़ को तितर-बितर कर दिया।

दीपक दहिया ने घटना के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि अगर वह डरते तो कई लोगों की जान जा सकती थी। इसलिए पास में सिर्फ डंडा होने के बावजूद वह पिस्टल लहरा रहे युवक से भिड़ गए।

हरियाणा के रहने वाले हैं दीपक दहिया

हरियाणा के सोनीपत के रहने वाले दीपक दहिया दिल्ली पुलिस के थर्ड बटालियन में तैनात है। दस साल पहले 2010 में दीपक दहिया दिल्ली पुलिस में कांस्टेबल पद पर भर्ती हुए थे। दहिया अभी वजीराबाद पीटीएस में हेड कांस्टेबल पद का प्रशिक्षण ले रहे हैं। उत्तर-पूर्व दिल्ली में हुए बवाल के बीच उनकी तैनाती मौजपुर वैष्णो देवी मंदिर के पास थी। दिल्ली पुलिस के प्रवका मनदीप सिंह रंधावा (अतिरिक्त पुलिस आयुक्त) ने 25 फरवरी को प्रेस वार्ता ने जानकारी दी कि इस घटना में शामिल शाहरुख को गिरफ्तार कर लिया गया है। शाहरुख के खिलाफ आर्म्स एक्ट और सरकारी कर्मचारी पर हमला करने के धारा में एफआईआर (FIR) दर्ज की गई है। दिल्ली पुलिस उसका आपराधिक इतिहास खंगाल रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here