उत्तराखंड सरकार और पतंजलि योगपीठ का गठबंधन, मिलकर करेंगे प्राकृतिक तरीके से कोरोना मरीजों का उपचार, अस्पताल का उद्घाटन

उत्तराखंड में कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए हरिद्वार में कुम्भ मेला के लिए 150 बैड के बेस हॉस्पिटल को कोरोना हॉस्पिटल के रूप में तब्दील कर दिया गया है अब इस हॉस्पिटल का संचालन योग गुरु बाबा रामदेव की पतंजलि योग पीठ द्वारा किया जाएगा आज कोरोना हॉस्पिटल का उद्घाटन राज्य के मुख्यमंत्री तीरथसिंह रावत और योग गुरु बाबा रामदेव ने किए इस हॉस्पिटल में कोरोना के क्रिटिकल मरीजो का भी उपचार किया जाएगा हॉस्पिटल में प्राकृतिक तरीके से कोरोना मरीजो का उपचार होगा और बहुत आवश्यक परिस्थितियों में ही मरीज को रेमडेसीवीर, ऐन्तिबाओटिक व स्टेरॉयड आदि दिए जाएंगे।

संसाधनों की कमी को देखते हुए योग गुरु बाबा रामदेव भी कोरोना के मरीजो के लिए मदद करने के आगे आये है हरिद्वार में कुम्भ के लिए राज्य सरकार द्वारा तैयार किये गए बेस हॉस्पिटल को सरकार अब कोरोना के मरीजो के इलाज के लिए इस्तेमाल करेगी इसके लिए राज्य सरकार और योग गुरु बाबा रामदेव के बीच एक समझौता हुआ है जिसमे हॉस्पिटल का संचालन पूरी तरह से पतंजलि योग पीठ द्वारा किया जाएगा 150 बैड के इस हॉस्पिटल में कोरोना के क्रिटिकल मरीजों का इलाज किया जाइएगा आज इस हॉस्पिटल का उद्घाटन योग गुरु बाबा रामदेव और राज्य के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने किया.

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत का कहना है कि पतंजलि योगपीठ और राज्य सरकार द्वारा हरिद्वार के बेस्ट हॉस्पिटल का संचालन किया जाएगा इसका आज उद्घाटन भी किया गया है यह हॉस्पिटल कोरोना से लड़ने के लिए काफी कारगर साबित होगा मुख्यमंत्री का कहना है कि इस हॉस्पिटल का फायदा हरिद्वार ही नहीं बल्कि हरिद्वार से जुड़े आसपास के राज्यों को भी होगा उत्तराखंड राज्य में ऑक्सीजन बेड की कमी नहीं है पर्याप्त मात्रा में हमारे पास वेंटीलेटर भी है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवाहन पर प्रदेश में 18 वर्ष से ऊपर के लोगों को निशुल्क वैक्सिंग लगाई जा रही है इसमें 400 करोड का खर्चा आ रहा है और 50 लाख लोगों को वैक्सिंग लगनी है इस कार्य को दो-तीन दिन के अंदर ही शुरू किया जाएगा केंद्र सरकार द्वारा उत्तराखंड सरकार की पूरी मदद की जा रही है प्रधानमंत्री द्वारा हमें आश्वस्त किया गया है उत्तराखंड प्रदेश को वेंटिलेटर ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में मिल रही है

वहीं योग गुरु बाबा रामदेव का कहना है कि अति गंभीर कोरोना मरीजो का भी यंहा पर प्राकृतिक तरीके से और आयुर्वेद दवाओं से उपचार किया जाएगा मगर बहुत गंभीर हालत में ही जरूरत पड़ने पर मरीज को रेमडेसीवीर स्टेरॉयड अथवा एंटीबायोटिक दिए जाएंगे योग गुरु ने बताया कि एक हफ्ते में ही हॉस्पिटल में अच्छे परिणाम दिखाई देंगे और हमारी कोशिश जीरो मृत्यु दर के साथ 99 .9 प्रतिशत रिकवरी दर देने की होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here