बाटा ने पहली बार किसी भारतीय को बनाया अपना ग्लोबल CEO

बहुराष्ट्रीय शू कंपनी बाटा ने अपने 126 साल के इतिहास में पहली बार किसी भारतीय को अपना ग्लोबल CEO बनाया है। कंपनी ने संदीप कटारिया को ग्लोबल सीईओ का पद दिया है। संदीप फिलहाल बाटा इंडिया के सीईओ हैं। संदीप कटारिया ने एलेक्सीज नसार्ड की जगह ली है जो करीब पांच साल से बाटा के ग्लोबल सीईओ पोस्ट पर थे।

बाटा ग्लोबल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी बने 49 साल के संदीप कटारिया ने आईआईटी दिल्ली और XLRI जमशेदपुर से पढ़ाई की है। वह XLRI में 1993 के पीजीडीबीएम बैच के गोल्ड मेडलिस्ट हैं। उन्हें यूनिलीवर, यम ब्रैंड्स, वोडाफोन जैसी कंपनियों में काम करने का करीब 24 साल का अनुभव है। वे साल 2017 में बाटा इंडिया के सीईओ बनाये गये थे।

आमतौर पर बाटा भारत में घर-घर में पहचाने जाना वाला ब्रैंड है जिसकी वजह से बहुत से लोग इसे भारतीय ब्रैंड समझते हैं लेकिन बाटा इंडिया की पैरेंट कंपनी स्विट्जरलैंड मुख्यालय वाली बाटा है जिसकी स्थापना 1984 में हुई थी। बाटा एक बहुराष्ट्रीय कंपनी है और करीब 70 देशों तक इसका कारोबार फैला हुआ है।

यह हर साल करीब 18 करोड़ पेयर जूते-चप्पल बेचती है। इसके 5,800 रिटेल स्टोर और पांच महाद्वीपों में फैले 22 कारखाने हैं। कंपनी का दावा है कि हर दिन इसके स्टोर्स में कुल करीब 10 लाख लोग खरीदारी करते हैं।

बाटा शू कंपनी की स्थापना 24 अगस्त 1984 को हंगरी के मॉर्वियन टाउन में हुई थी जो अब चेक​ रिपब्लिक में है। इसकी स्थापना टॉमस बाटा, उनके भाई एंटोनिन और उनकी बहन अन्ना ने मिलकर की थी।

भारत दुनिया में जूते-चप्पलों का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक और उपभोक्ता देश है. इस इंडस्ट्री में करीब 20 लाख लोगों को यहां रोजगार मिला हुआ है। साल 2018 में भारत ने 26.2 करोड़ पेयर जूते-चप्पलों का निर्यात किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here