उत्तराखंड की SDRF टीम को सलाम, इस कहते हैं ‘राष्ट्रमाता’ की सच्ची परवाह करना

टिहरी : गौ संरक्षण हमेशा से भारतीय जनता पार्टी का प्रमुख एजेंडा रहा है। उत्तराखंड तो गाय को राष्ट्रमाता घोषित करने वाला देश का पहला ऐसा राज्य बन गया है। विधानसभा में यह बिल पास किया गया। लेकिन कहीं न कहीं आज भी राज्य में गौ माता के पालन पोषण और रहने की व्यवस्था में सुधार नहीं हुआ है। आए दिन गाय बाहर सड़कों पर, सड़कों किनारे लावारिस हालत में देखी जाती हैं. कई बार को गायों को पॉलिथीन-कूड़ा कचरा तक खाते तक देखा गया जिससे साफ हुआ कि सरकार ने भले ही गायको राष्ट्रमाता घोषित किया लेकिन उनके लिए पुख्ता इंतजाम नहीं किए। लेकिन उत्तराखंड पुलिस की एसडीआरएफ टीम गाय की रक्षा औऱ उनकी सच्ची सेवा कर रही है। जी हां बता दें कि टिहरी के घनसाली पुलिस और एसडीआरएफ टीम ने अपनी जान की बाजी लगाकर गदेरे नें फंसी गाय को बाहर निकाला कर जान बचाई।

बता दें कि आज शुक्रवार को घनसाली बाजार में होटल श्रीराम के पीछे नैलचामी गदेरे में एक गाय बीच गदेरे मे फंस गई थी जिसको पुलिस और एसडीआरएफ की टीम और स्थानीय लोगों के सहयोग से बहुत तेज बहाव होने के बावजूद बमुश्किल सकुशल बाहर निकाला गया। लोगों ने पुलिस और एसडीआरएफ की सराहना की और इसे गौ माता कि सच्ची रक्षा करना बताया।आपको बता दें कि ये पहली बार नहीं है जब उत्तराखंड पुलिस के जवानों ने गौ माता की रक्षा की हो और खतरे से बाहर निकाला हो इससे पहले भी टीम गौ माता को खतर नाक मौत के कुएं से बाहर निकाल चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here