औली में 200 करोड़ की शादी के लिए ताक पर नियम-कायदे

जोशीमठ: विश्व प्रसिद्ध औली में करोबारी गुप्ता बंधुओं के बेटों की शादी होनी है। सरकार के कहने पर गुप्ता बंधु औली में शादी करा रहे हैं। सरकार की मानें तो औली में इस ग्रैंड शादी के बाद औली वेडिंग डेस्टिनेशन बन जाएगा। जिसका फायदा प्रदेश को मिलेगा। लेकिन, जिस तरह से औली में शादी की तैयारियों के लिए नियम-कायदों को ताक पर रखकर काम किया जा रहा है। पैनखंडा संघर्ष समिति के अध्यक्ष रमेश चंद्र सती ने कहा कि इससे पर्यावण को खासा नुकसान होगा।

औली में टेंट काॅलोनी बनाई जा रही है, लेकिन उसके लिए प्रशासन से कोई अनुमति नहीं ली गई है। इतना ही नहीं औली में जेसीबी से खुदाई की जा रही है, जो नियमों के विपरीत हैं। जेसीबी से खुदाई करने से स्कीइंग स्लोप को नुकसान होगा। जिससे भविष्य में स्कीइंग स्पोल के पूरी तरह खराब होने का भी डर है। औली में जिस तरह से नियमों को ताक पर रखकर ग्रेंड शादी हो रही है, उसके विरोध के स्वर भी मुखर होने लगे हैं।

इसके अलावा आयोजकों ने शादी के लिए 20 टेंट और आठ हेलीकाॅप्टरों की अनुमति मांगी है, लेकिन एसडीएम वैभव गुप्ता के निरीक्षण में वहां कुछ और ही नजारा दिखाई दिया। जिस तरह से मीडिया रिपोर्टें सामने आ रही हैं। उनके अनुसार 100 से अधिक हेलीकाॅप्टर बुक कराए गए हैं, जबकि 20 की जगह पूरी टेंट काॅलोनी ही तैयार की जानी है। फिलहाल वही होता दिख भी रहा है। अगर सरकार ने जल्द कुछ कदम नहीं उठाए तो औली को होने वाले नुकसान से बचा पाना मुश्किल होगा।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here