उत्तराखंड में फिल्मी अंदाज में अपरहण, हीरो बनी रुद्रपुर पुलिस, पैसों के लिए की थी किडनैपिंग

उधम सिंह नगर : फिल्मी स्टाइल में हुए पार्षद के अपहरण की 4 दिन बाद पुलिस ने गुथ्थी सुलझा दी है। अपहरण हुए पार्षद की सकुशल बरामदगी कर ली है। अपहरण कर्ताओं ने 20 लाख की फिरौती भी मांगी थी। अपहरण हुए पार्षद के बरामद होने के बाद पुलिस ने राहत की सांस ली । पुलिस ने पत्रकार वार्ता कर पूरे मामले का खुलासा किया। सकुशल घर वापस आये नागर निगम के पार्षद ने परिजनों और यार दोस्तो से मिल कर वेहद खुशी ज़ाहिर की । हालांकि अभी तक अपहरण कर्ताओं की ग्रिफ्तारी करने में पुलिस नाकामयाब हुई है।

आपको बता दें कि ऊधमसिंहनगर के रुद्रपुर नगर निगम के कांग्रेस पार्षद का अपहरण कर बदमाशों ने 20 लाख की फिरौती मांगी गयी थी। पुलिस ने शुक्रवार को पार्षद की मां की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया था। अमित मिश्रा वार्ड 21 से पार्षद और नगर निगम में उप नेता प्रतिपक्ष है।पुलिस ने बताया कि15 जनवरी की रात वह अपने प्रीत विहार स्थित कार्यालय में बैठा था। कुछ देर बाद वह स्कूटी से कहीं काम से चला गया। इसके बाद उसका फोन बंद हो गया। उसकी माँ ने बताया कि देर रात एक नंबर से कॉल आई। फोन करने वाले ने कहा कि अमित उनके पास है। उसकी रिहाई के लिए उसने 20 लाख की फिरौती मांगी। पुलिस को घटना की जानकारी न देने की धमकी भी दी। सविता ने हिम्मत जुटाते हुए पुलिस को मामले की पूरी जानकारी दी। अपहरण की सूचना मिलने पर पुलिस महकमे में भी हड़कंप मच गया था।

कांग्रेस पार्षद के अपहरण का मामला सामने आया था। पुलिस ने पार्षद अमित मिश्रा को गाजियाबाद से बरामद किया है। एसएसपी बरिंदर सिंह ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि अपहरणकर्ता पार्षद को गाजियाबाद में सुनसान जगह पर छोड़कर फरार हो गए थे। अपहरण पैसों के लिए ही किया गया था। अपहरणकर्ताओं ने परिजनों से 20 लाख की फिरौती मांगी थी। परिजनों ने दस लाख रुपये इकट्ठा कर देने की बात कही थी। लेकिन पुलिस की लगातार घेराबंदी के चलते अपहरणकर्ता फिरौती की रकम नहीं ले पाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here