सरकार, मीडिया, बॉलीवुड पर भड़के रोशन रतूड़ी, बोले- कहां हैं अभिनंदन, हमारे जवान के लिए आगे आना चाहिए

देहरादून : विंग कमांडर अभिनंद को आखिर कौन भूल सकता है, जो लड़ते हुए पाक में घुस गए थे और उनका विमार पीओके अंदर पाक में गिर गया था इसके बाद पूरी दुनिया भर में तहलका मच गया था. सरकार से लेकर पूरी मीडिया, पूरा बॉलीवुड ने पूरी ताकत लगाई और जवान को वापस लाने की दिन रात प्रार्थना की.

वहीं एक बार फिर से अभिनंदन के नाम को याद कर उत्तराखंड से समाज सेवी रोशन रतूड़ी भड़क गए हैं। क्योंकि उत्तराखंड का सिपाही जवान 8 जनवरी से लापता है लेकिन सरकार चुप है. उत्तराखंड के लोग चुप हैं, उत्तराखंड की सरकार चुप है. कोई मीडिया, कोई अभिनेता, कोई क्रिकेटर ने हवलदार राजेंद्र नेगी के लिए आवाज नहीं उठाई. क्योंकि वो सिपाही है.

सरकार, मीडिया पर निकाला गुस्सा, कहा-अभिनंदन मामले की तरह आवाज उठाओ

रोशन रतूड़ी ने आज मीडिया, सरकार और बॉलीवुड अभिनेता-अभिनेत्रियों पर जमकर भड़ास निकाली. उनका कहना है कि विंग कमांडन अभिनंदर ऊंचे पर थे इसलिए उनको वतन वापस लाने के लिए मीडिया दिन रात मुद्दा बनाकर दिखाती रही, सरकार ने उसे वापस लाने के लिए पूरी ताकत लगा दी लेकिन राजेंद्र के मामले में ऐसा क्यों नहीं किया जा रहा है। रोशन रतूड़ी का कहना है कि जैसे अभिनंदन को वापस लाने के लिए देश भर के लोगों ने प्रार्थना की सरकार पर दबाव बनाया वैसे ही उत्तराखंड के बेटे राजेंद्र के लिए भी आवाज उठाई जाए।कहा कि अभिनंदन को भी जवान के लिए आवाज उठानी चाहिए और मदद के लिए सामने आना चाहिए.

अभिनंदन की तरह लोगों ने मूंछे बनाई…

रोशन रतूड़ी ने वीडियो जारी कर कहा कि सिपाही होने के कारण ही हवलदार राजेंद्र नेगी की सरकार अनदेखी कर रही है। जब अभिनंदन पाक में फंस गए थे तो उनके लिए पूरा देश एक हो गया था, अभिनंदन की तरह लोगों ने मूंछे बनाई लेकिन उत्तराखंड के बेटे जो गुलमर्ग पोस्ट से लापता हैं उनके लिए आावाज क्यों नहीं उठाई जा रही है। सरकार कुछ क्यों नहीं कर रही है। रोशन रतूड़ी ने सरकार से मीडिया से और पूरे देश की जनता से जवान को वापस लाने में मदद की अपील की है।

रोशन रतूड़ी ने लिखी ये पोस्ट

रोशन रतूड़ी ने लिखा कि हम अपने उतराखंड के सभी माननीय जन प्रतिनिधियों से व मीडीया से विनम्रता के साथ पूछना चाहता हैं। हमारे उतराखंड का एक भारतीय सेना का वीर जवान राजेंद्र नेगी जी,8 जनवरी से जो कि गुलमर्ग कश्मीर सीमा पर तैनात था,अचानक बर्फ़ में पैर फिसलने की वजह से व पाकिस्तान की सीमा के अंदर चले गये है इस बात का अंदेशा लगाया जा रहा है ,इतने दिन बितने के बाद भी सब चुपचाप देख रहे है अभी तक सेना के वीर जवान राजेंद्र नेगी जी कुछ पता नहीं चल पाया उनके परिवार वालों का रो-रोकर बहुत बुरा हाल है । क्यों हमारे मीडीया वाले ख़ामोश है ? ज़रा सोचो पीडीत परिवार पर कया बीत रही होगी ? वीर जवान सैनिक भारत माँ का बेटा है । हम सबको उसके लिेए आवाज उठानी चाहिये।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here