रुड़की : कोरोना जांच करने पहुँची टीम को भगाया, लाठी-डंडे से मारने की चेतावनी, बोले : झूठी पॉजिटिव रिपोर्ट दिखाई जा रही

रूड़की- कोरोना की चैन तोड़ने के लिए देशभर में वैक्सीनेशन अभियान तेज़ी से चलाया जा रहा है। शहरों से लेकर गाँव देहातों तक में वैक्सीनेशन और कोविड टेस्ट कैम्प लगाकर स्वास्थ्यकर्मी लोगों का कोविड टेस्ट कर रहे है। इसी कड़ी में लंढौरा के शिकारपुर गाँव में स्वास्थ्य विभाग की ओर से कोविड टेस्ट किए गए जहां बड़ी संख्या में लोग कोविड पॉजिटिव पाए गए। अधिक संख्या में पॉजिटिव आने पर स्वास्थ्य महकमें से लेकर प्रशासन और ग्रामीणों में हड़कंप मच गया। जिसको देखते हुए टेस्टिंग बढ़ाई गई तो ग्रामीणों ने टीम का विरोध किया। ग्रामीणों का आरोप है कि बिना लक्षण के लोग पॉजिटिव दिखाए गए हैं। ग्रामीणों ने टेस्टिंग में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए टीम के साथ बदसलूकी भी की।

दरअसल शिकारपुर गांव में सोमवार को जांच करने पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ गांव वालो ने अभद्रता व गाली गलौच करते हुए टीम को गांव से भगा दिया। ओर साथ टीम को चेतावनी भी दी अगर दुबारा गांव में आये तो लाठी डंडों से पिटाई की जाएगी। डरी सहमी स्वास्थ्य विभाग की टीम भाग कर पीएचसी लंढौरा पहुंची।और पीएचसी प्रभारी को पूरी जानकारी दी। जिसकी सूचना एएसडीएम रुड़की व आला अधिकारियों को दे दी गयी है। वही गांव वालों का आरोप है कि आशा कत्रियो के कारण गांव में कोरोना फैला है। वही 12 जून को हुई 125 व्यक्तियों में से 12 की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। गांव में 44 लोग कोरोना संक्रमण हो गए है।

आपको बता दे शिकारपुर गांव में कोरोना के बढ़ते मामलों के देखते हुए केंटोनमेंट जॉन घोषित किया गया है। गांव में स्वास्थ्य विभाग की टीम कई दिनों से डेरा जमाए हुए है। ग्रामवासियो का कोरोना टेस्ट किया जा रहा है। रविवार को गांव को सील कर दिया गया था।जिससे ग्रामीण गुस्से में है।सोमवार को जैसे ही स्वास्थ्य विभाग की टीम शिकारपुर गांव पहुंची तो उन्होंने केवल तीन व्यक्तियों का ही टेस्ट किया था कि तभी वँहा ग्रामीण इकठ्ठा हो गए और टीम के साथ बदसुलूकी करते हुए गाली गलौच व अभद्रता करने लगे, आरोप है कि लाठी डंडों से टीम को घेर लिया गया ओर गांव से भगा दिया। साथ ही टीम को चेतावनी दी गयी कि यदि वह दोबारा गांव में आये तो उनके साथ अच्छा सुलूक नही किया जाएगी। इस पर स्वास्थ्य विभाग की टीम जान बचाकर भाग आयी। उन्होंने पूरी जानकारी पीएचसी प्रभारी डॉ अमित डाबरा को दी।

डॉ अमित डाबरा ने बताया कि टीम के साथ अभद्रता की गई है। उन्हें गांव में न घुसने की चेतावनी भी दी गयी है। जिसकी रिपोर्ट विभाग के उच्च अधिकारियों व एएसडीएम रुड़की को कर दी गयी है। उन्होंने बताया कि 12 जून को 125 व्यक्तियों के टेस्ट किये गए थे जिनमें 12 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। गांव में अब तक 44 लोग कोरोना पॉजिटव हो गए हैं। जबकि ग्रामीणों का कहना है कि बिना लक्षण के ही उनको पॉजिटिव दिखाया जा रहा है।

रुड़की एएसडीएम पूरण सिंह राणा ने बताया कि लगातार टेस्टिंग का कार्य किया जा रहा है। शिकारपुर गाँव मे भी टीम द्वारा टेस्टिंग की जा रही है, सूचना मिली है कि कुछ ग्रामीणों द्वारा टीम के साथ अभद्रता की गई है। लोगो को समझाया जा रहा है, सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस भी भेज दी गई है। टेस्टिंग का कार्य लगातार जारी रहेगा। उन्होंने बताया ग्रामीणों का कहना है कि कोविड टेस्ट रिपोर्ट में गड़बड़ी है इस शंका को ग्रामीणों के दिल से दूर किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here