उत्तराखंड में दर्दनाक हादसा, दो बैंक कर्मियों की मौत

accidentउत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले से दर्दनाक हादसे की खबर सामने आई है ग्रामीण बैंक डीडीहाट के शाखा प्रबंधक और कैशियर की कार दुर्घटना में मौत हो गई। पिथौरागढ़ से डीडीहाट के लिए रवाना हुए दोनों अधिकारी रविवार की रात से लापता थे।

जानकारी के मुताबिक ग्रामीण बैंक के कर्मचारी रविवार को हल्द्वानी में एक इवेंट में शामिल होकर वापस लौटे रहे थे। डीडीहाट बैंक के शाखा प्रबंधक रविकांत मेहता और कैशियर त्रिवेणी माधव पलड़िया अन्य कर्मचारियों को पिथौरागढ़ में उतार कर रात 10:30 बजे डीडीहाट के लिए रवाना हुए लेकिन वे डीडीहाट नहीं पहुंचे।

सुबह दोनों के बैंक में न पहुंचने पर पूछताछ की गई तो अनहोनी की आशंका हुई। ग्रामीण बैंक की ओर से पुलिस को सूचना दी गई। सूचना मिलते ही कनालीछीना थाना और डीडीहाट थाना पुलिस दोनों बैंक कर्मियों की खोज में जुटे। SDRF ने सर्च ऑपरेशन के बाद उनके शव जिला मुख्यालय पिथौरागढ़ से 33 किमी दूर रणगांव के पास 400 मीटर गहरी खाई में गिरी कार के भीतर से बरामद कर लिए हैं।

कार में बुरी तरह फंसे शवों को एसडीआरएफ के जवानों ने बमुश्किल कटर की मदद से कार को काटकर निकाला गया। दोनों मृतकों के शवों को अग्रिम कार्यवाही हेतु जिला पुलिस के सुपर्द किया

इस हादसे की जानकारी के बाद बैंक कर्मियों में शोक की लहर है। पुलिस ने दोनों मृतकों के परिजनों को हादसे की सूचना दे दी है। बताया जा रहा है कि रविकांत मेहता मूल रूप से लखनऊ के निवासी थे वर्तमान में उनका परिवार हल्द्वानी में रहता है। त्रिवेणी माधव पलड़िया भीमताल के रहने वाले थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here