ऋषिकेश पुलिस ने बुजुर्गों को दिया सुरक्षा का भरोसा, घर-घर जाकर जानी समस्याएं

ऋषिकेश : उत्तराखंड में बढ़ते बुजुर्ग दंपती के प्रति अपराध को देखते हुए देहरादून एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने एक नई पहल की शुरुआत की है। इस पहल से बुजुर्गौं को सुरक्षा प्रदान की जाएगी और साथ ही पुलिस कर्मचारियों द्वारा बुजुर्गों का घर घर जाकर हाल जाना जाएगा, उनकी समस्याओं को जाना जाएगा और समस्याओं का निस्तारण किया जाएगा। पुलिस द्वारा बुजुर्गों को सुरक्षा का एहसास कराने के साथ सुरक्षा भी प्रदान की जाएगी। पुलिस की इस पहल से अपराधियों में वर्दी का खौफ भी रहेगा। वहीं डीआईजी के निर्देश पर इस अभियान के तहत ऋषिकेश कोतवाली पुलिस द्वारा सीनियर सिटीजन के घर घर जाकर उनकी समस्याएं पूछी गई। इस पहल की लोगों ने सराहा। साथ ही ऋषिकेश पुलिस को धन्यवाद अदा किया।

बता दें कि जनपद देहरादून में भी बुजुर्ग दंपती के साथ कई घटनाओं को अंजाम दिया गया। लूटपाट की गई और लूट कर हत्या की गई। वहीं अकेले रह रहे बुजुर्ग दंपती को सुऱक्षा प्रदान करने की डीआईजी ने ठानी। सीनियर सिटीजन की समस्याओं के अनावरण और सुरक्षा को देखते हुए डीआईजी और देहरादून एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने एक अभियान की शुरुआत की है। इस अभियान ऋषिकेष कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक रितेश शाह ने प्रत्येक चौकी प्रभारी, बीट अधिकारियों और कर्मचारियों को सीनियर सिटीजन की सूची देकर अपने-अपने क्षेत्र में निवासरत सीनियर सिटीजन से मिलकर निम्नलिखित बातों का अनुपालन करने के लिए कहा गया है।

1- अपने-अपने बीट क्षेत्र में निवासरत सीनियर सिटीजन की सूची बनाकर प्रत्येक सप्ताह उनकी समस्याओं के विषय में जानकारी करना।

2- ऐसे सीनियर सिटीजन जो अकेले निवासरत हो उनकी सूची बनाकर उनके प्रत्येक दशा में संपर्क बनाये रखना।

3- किसी जटिल समस्या के विषय में जानकारी होने पर तत्काल थाना प्रभारी एवं दैनिक अधिकारी को सूचित करना।

4- सप्ताह में एक बार प्रत्येक दशा में सीनियर सिटीजन से मिलकर उनकी कुशलता व परेशानी के विषय में जानकारी करना।

उपरोक्त दिशा निर्देशों के अनुपालन में कुल 121 सीनियर सिटीजन मैं से 33 सीनियर सिटीजन के घर घर जाकर कुशलता एवं उनकी परेशानी के विषय में जानकारी प्राप्त की गई। जिनमें से 2 सीनियर सिटीजन का देहांत हो चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here