ऋषिकेश : अगर आपका बेटा-पति या रिश्तेदार है स्मैक-चरस पीने का आदी तो यहां आएं

ऋषिकेश : ऋषिकेश पुलिस ने एक नई पहल की शुरुआत की है। ऋषिकेश पुलिस ने अब नवयुवकों को सुधारने की ठानी है। ऋषिकेश कोतवाली पुलिस ने युवाओं को नशे की प्रवृत्ति से बाहर निकालने की ठानी है। आपको बता दें कि डीआईजी और देहरादून एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने जिलेभर में “ऑपरेशन सत्य” अभियान चालने के पुलिस को निर्देश दिए। इसी के दृष्टिगत दो (2) स्मैक और चरस पीने के आदी बच्चों को परिवारजनों के माध्यम से थाने पर बुलाकर काउंसलिंग की।

बता दें कि योग नगरी ऋषिकेश में नशे का जहर फैलता जा रहा है। लोग छुप छुप कर योगनगरी में शराब की बिक्री कर रहे हैं। अभी तक पुलिस कई स्मैक, चरस, शराब तस्करों को पकड़कर जेल भेज चुकी है। वहीं कई नाबालिग भी नशे के शिकार हो चुके हैं जिनको इस जंजाल से बाहर निकालने की जिले की पुलिस ने ठानी है।

 बता दें कि इस अभियान को सफल बनाने के लिए और युवाओं की जिंदगी संवारने के लिए ऋषिकेश कोतवाली प्रभारी निरीक्षक रितेश शाह ने कई टीमें गठित की। ऋषिकेश की आम जनता व नवयुवकों को “ऑपरेशन सत्य” के विषय में जागरूक करने के लिए बैनर व बीट पुलिस अधिकारी/कर्मचारियों की सहायता से प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। बता दें कि वाल्मीकि बस्ती ऋषिकेश एवं बनखंडी ऋषिकेश क्षेत्र के दो परिवार जनों ने “ऑपरेशन सत्य” से जागरूक होकर अपने दोनों बच्चों को आज थाने पर काउंसलिंग के लिए लाया गया जहां उनके द्वारा बताया गया कि दोनों बच्चे स्मैक और चरस पीने के आदी हैं और नशे की हालत में चोरी की घटनाओं को भी अंजाम देते रहते हैं। जिस पर अलग-अलग उप निरीक्षक उत्तम रमोला और उप निरीक्षक सत्येंद्र भाटी ने दोनों लड़कों की उनके परिवारजनों के समक्ष काउंसलिंग की।

उनको नशे के दुष्परिणामों के बारे में बताया गया। पुलिस द्वारा उन्हें नशा कहां से प्राप्त होता है की जानकारी ली गई। बाद काउंसलिंग दोनों बच्चों को परिवार जनों के सकुशल सुपुर्द किया गया, व भविष्य में किसी भी प्रकार का नशा न करने के लिए कहा गया।

1- रजत उर्फ पीली पुत्र नवल किशोर सिंह निवासी गली नंबर 8 बाल्मिकी बस्ती ऋषिकेश देहरादून, उम्र 26 वर्ष

2- अंकुर उर्फ चाउमीन पुत्र सुधीर राजपूत निवासी कुआं वाली गली बनखंडी ऋषिकेश जनपद देहरादून, उम्र 20 वर्ष

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here