हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज में रैगिंग का मामला, 123 सीनियर छात्रों पर लगाया अर्थदंड

 

4 मार्च को हल्द्वानी के मेडिकल कॉलेज में हुई जूनियर छात्रों के साथ रैगिंग का मामला अभी शांत नहीं हुआ है। इस मामले में छात्रों पर जुर्माना लगाया गया है और जांच जारी है। अब इस मामले को लेकर ताजा अपडेट है कि कॉलेज प्रशासन ने 123 सीनियर छात्रों पर 5-5 हजार रुपये का अर्थदंड लगाया है। जानकारी मिली है कि बीते दिन सोमवार तक 120 छात्रों ने जुर्माना भर दिया है। कॉलेज प्रशासन को 20 अप्रैल तक हाई कोर्ट में रैगिंग मामले में अब तक की गई कार्रवाई पर जवाब देना है।

आपको बता दें कि मामला 4 मार्च का है। 4 मार्च को फर्सट ईयर के सभी 43 छात्रों के सिर मुंडवाए गए थे जिसका वीडियो वायरल हुआ था जिसमे छात्रों के सिर मुंडवा रखे थे और कंधे पर बैग टांग कर घुमाया जा रहा था. सभी ने सिर छुकाया हुआ था जब ये वीडियो वायरल हुआ तो कॉलेज प्रबंधन समेत प्रशासन में हड़कंप मच गया। मामले जनहित याचिका के रूप में हाई कोर्ट पहुंचा तो कुमाऊं कमिश्नर और डीआइजी की जांच कमेटी गठित कर कोर्ट ने कार्रवाई करने के निर्देश दिए। वहीं मामले में कालेज की एंटी रैगिंग कमेटी की बैठक 26 मार्च को हुई थी। जिसमे बताया गया कि आखिर मामला क्या है।

कॉलेज प्रबंधन ने साफ तौर पर कहा कि ये रैगिंग नहीं है और ना ही उन्हें इसकी जानकारी है। इसमें स्पष्ट शिकायत न मिलने पर कमेटी ने एमबीबीएस द्वितीय और तृतीय वर्ष के हास्टल में रहने वाले सभी 123 छात्रों पर 5-5 हजार रूपये का अर्थदंड लगाया। कालेज प्रशासन के अनुसार सोमवार शाम तक 120 छात्रों ने अर्थदंड जमा कर दिया है। 3 छात्र अनुपस्थित होने की वजह से जमा नहीं कर सके हैं। मामले में हाई कोर्ट ने 20 अप्रैल तक मेडिकल कालेज प्रशासन का जवाब तलब किया है। साथ ही पुलिस स्तर पर भी जांच चल रही है। इसमें अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज है और साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं। अगर साक्ष्य मिल जाते हैं तो फिर सीनियर छात्रों पर और बड़ी कार्रवाई हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here