बहुत बड़ी खबर। प्रीतम सिंह देंगे इस्तीफा! गुटबाजी के आरोपों से आहत

pritam-singh

 

आखिरकार जिस बात की आशंका जताते हुए हमने अब से कुछ देर पहले एक खबर पोस्ट की थी वैसा ही कुछ उत्तराखंड कांग्रेस में होता हुआ दिख रहा है। कांग्रेस के विधायक और पूर्व नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने पार्टी के नेताओं के सामने अपने इस्तीफे के पेशकश कर दी है।

कांग्रेस के चकराता से विधायक और पिछली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रहे प्रीतम सिंह पार्टी में सामने आ रहीं गुटबाजी की खबरों से आहत बताए जा रहें हैं। कहीं न कहीं उनके ऊपर भी गुटबाजी में शामिल होने के आरोप लग रहें हैं।

इसी बीच प्रीतम सिंह ने पार्टी के कई सीनियर लीडर्स पर निशाना साधा है। प्रीतम सिंह ने पार्टी के वरिष्ठ नेता केसी वेणुगोपाल, प्रभारी देवेंद्र यादव और अविनाश पांडेय पर जुबानी हमला बोला है। प्रीतम सिंह ने कहा है कि अगर पार्टी में गुटबाजी की कोई रिपोर्ट है तो उसे सार्वजनिक करना चाहिए। पार्टी के नेताओं कार्यकर्ताओं को पता चले कि किसने गुटबाजी की है। प्रीतम सिंह ने पार्टी नेताओं से मांग की है कि गुटबाजी में शामिल नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए।

प्रीतम सिंह यहीं नहीं रुके। उन्होंने यहां तक कह दिया है कि अगर वो भी किसी तरह की गुटबाजी में शामिल दिख रहें हैं तो भी अपना इस्तीफा देने के लिए तैयार हैं।

प्रीतम सिंह का ये रौद्र रूप देख पार्टी के कई नेता सकते में हैं। आमतौर पर इस तरह की बयानबाजी से बचने वाले प्रीतम सिंह ने इस बार पार्टी के बड़े नेताओं पर सीधा हमला बोला है। माना जा रहा है कि प्रीतम सिंह ने सीधे सीधे राष्ट्रीय नेतृत्व को इस मसले पर इशारा कर दिया है।

आपको बता दें कि प्रीतम सिंह पिछली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चुने गए थे। माना जा रहा था कि इस बार भी वो नेता प्रतिपक्ष चुने जाएंगे लेकिन पार्टी ने यशपाल आर्य को नेता प्रतिपक्ष बनाया है। वहीं प्रीतम सिंह को प्रदेश अध्यक्ष का पद भी नहीं दिया गया है। इसे प्रीतम सिंह का सियासी कद कम करने की कवायद के तौर पर देखा जा रहा है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here