प्रीतम सिंह बोले : बाबा रामदेव पर तुरंत कार्यवाही करे सरकार, किस हैसियत से 25 सवाल दागे?

देहरादून : उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने एक विज्ञप्ति जारी करके राज्य सरकार से रामदेव के बयानों का संज्ञान लेने और बाबा रामदेव के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

प्रीतम सिंह ने कहा कि रामदेव के बयानों ने देश के उन समस्त चिकित्सकों का अपमान किया है जो दिन रात कोरोना की इस महामारी में गंभीर मरीजों के इलाज में समर्पण और प्रतिबद्धता के साथ योगदान देने का काम कर रहे हैं ।

साथ ही प्रीतम सिंह ने कहा की रामदेव का बयान डॉक्टर्स का मनोबल गिराने वाला है ,रामदेव ने ना सिर्फ चिकित्सा पद्धति का उपहास उड़ाया है बल्कि जिन डॉक्टर्स ने कोरोना काल में अपनी जान गवा दी उनके ऊपर भी कटाक्ष किया है। और तो और सरकारों को इसका संज्ञान इस वजह से भी लेना चाहिए क्योंकि रामदेव ने वैक्सीनेशन पर भी गंभीर सवाल उठाए हैं।

पीसीसी अध्यक्ष ने कहा कि बालकृष्ण पर भी महामारी एक्ट के तहत भड़काऊ बयान देने पर कार्यवाही होनी चाहिए। बालकृष्ण ने पूरे प्रकरण को सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश की है और समाज को बांटने का काम किया है ।प्रीतम सिंह ने यह भी सवाल किया कि जब वैक्सीन को लेकर प्रधानमंत्री से सवाल पूछे गए तो कार्यकर्ताओं पर मुकदमा किया जाता है लेकिन आज देश के डॉक्टर से रामदेव किस हैसियत और क्वालिफिकेशन के तहत 25 सवाल दाग रहे हैं?

प्रीतम सिंह ने कहा कि अब तो हद ही हो गई जब रामदेव यह कहने की हिम्मत कर रहे हैं कि किसी का बाप भी उन्हें गिरफ्तार नहीं कर सकता. ऐसे में केंद्र और राज्य सरकार बताएं कि क्या देश में जंगलराज चल रहा है ?आज सत्ता पक्ष के तमाम लोगों की चुप्पी इस बात की ओर इशारा कर रही है कि रामदेव को इन सब का संरक्षण प्राप्त है। प्रीतम सिंह ने कहा कि यह अफसोस जनक बात की है कि आज एक व्यक्ति देश के सारे चिकित्सकों पर हावी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here