धामी सरकार को प्रीतम ने दी CBI जांच की चुनौती, दरोगा भर्ती को लेकर दिया ये बयान

PRITAM SINGH2015 में दरोगा भर्ती में घोटाला सामने आने के बाद तत्कालीन कांग्रेस सरकार पर सवाल उठ रहें हैं। वहीं अब तत्कालीन गृह मंत्री और कांग्रेस नेता प्रीतम सिंह ने धामी सरकार को CBI जांच कराने की चुनौती दी है। प्रीतम सिंह ने कहा है कि वो हर जांच के लिए तैयार है।

दरअसल हाल ही में 2015 में हुई दरोगा भर्ती घोटाले का खुलासा हुआ है। विजिलेंस की प्रारंभिक जांच के बाद पुलिस मुख्यालय ने इस दरोगा भर्ती के तहत भर्ती हुए 20 दरोगाओं को सस्पेंड कर दिया है। इसके साथ ही जांच बैठा दी है।

वहीं इस घोटाले के सामने आने के बाद तत्कालीन कांग्रेस सरकार सवालों के घेरे में आ गई। सवाल तत्कालीन गृह मंत्री प्रीतम सिंह पर भी उठे। इसी दौरान अब प्रीतम सिंह ने न सिर्फ जवाबी वार किया है बल्कि धामी सरकार को खुले तौर पर चुनौती भी दे दी है।

प्रीतम सिंह ने मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा है कि उनके दौर में दरोगा भर्ती घोटाला हुआ। लेकिन सरकार पर सवाल नहीं उठाया जा सकता है। अगर धामी सरकार को लगता है कि सरकार की भूमिका थी तो वो इस मामले में CBI जांच करा ले। वो हर जांच के लिए तैयार हैं।

आयोग पर उठाए सवाल, सरकार को घेरा

प्रीतम सिंह ने राज्य में भर्तियों के परिपेक्ष्य में हो रही धांधली के मामले में पर भी सरकार पर सवाल खड़े किए हैं। उत्तराखंड लोक सेवा आयोग द्वारा कराई गई पटवारी भर्ती पेपर लीक प्रकरण पर सवाल उठाते हुए आयोग के अधिकारियो की भूमिका पर उठाए सवाल।

उन्होंने कहा कि पटवारी भर्ती परीक्षा में पेपर लीक प्रकरण के बाद भर्ती घोटालों में संलिप्त उत्तराखंड लोक सेवा आयोग की भूमिका भी संदेह के घेरे में आ गई है, ऐसी स्तिथि में आयोग द्वारा प्रस्तावित पीसीएस-मेंस तथा फॉरेस्ट गार्ड भर्ती परीक्षाओं को स्थगित करते हुए पूरे प्रकरण की निष्पक्ष उच्च स्तरीय जांच कराई जाये। उन्होंने कहा कि सरकार रोजगार देने में फेल साबित हो रही है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here