भारतीय रेलवे में अब तक के सबसे बड़े बदलाव की तैयारी, ये है योजना

नई दिल्ली : कोरोना काल में भारतीय रेलवे बदलाव के दौर से गुजर रहा है, अब रेलवे ने एक बड़ी घोषणा की है जिसके पूरा होते ही रेलवे में अभी तक का सबसे बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा. केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने गुरुवार को कहा कि भारतीय रेलवे अगले 3.5 वर्ष में पूरी तरह बिजली से चलने वाला रेल नेटवर्क बन जाएगा. गुरुवार को सीआईआई के एक कार्यक्रम में रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इस बात की जानकारी दी. इंडियन रेलवे दुनिया का पहला इतना बड़ा रेल नेटवर्क होगा जो पूरी तरह बिजली से संचालित होगा. उन्होंने कहा कि 2024 तक रेलवे 100 फीसदी बिजली से चलने वाला रेल नेटवर्क होगा.

उन्होंने कहा कि भारतीय रेल तेजी से अपने नेटवर्क को बिजली से जोड़ने यानी विद्युतीकरण की ओर बढ़ रहा है. पीयूष गोयल के मुताबिक वर्तमान में 55 फीसदी रेल का नेटवर्क बिजली से चलता है, जिस पर अगले 3.5 सालों में 100 फीसदी ट्रेनें बिजली से दौड़ने लगेंगी. हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रेलवे के 100 फीसदी विद्युतीकरण की योजना को मंजूरी दी है.

केंद्र से मिली मंजूरी के बाद रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि भारत 100% इलेक्ट्रीफाइड रेल नेटवर्क बनाने की राह पर चल पड़ा है. इसके तहत 120,000 किलोमीटर के ट्रैक पर काम होगा. गोयल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘वन सन, वन वर्ल्ड, वन ग्रिड’ को बढ़ावा दिया है. हम इस पर काम कर रहे हैं. पीयूष गोयल ने कहा, 2030 तक हम उम्मीद करते हैं कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा ग्रीन रेलवे होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here