पूनम पांडे हत्याकांड: जांच की हर थ्योरी फेल, एक साल बाद भी बस खुलासे के दावे

हल्द्वानी (योगेश शर्मा): हल्द्वानी में करीब एक साल पहले गोरा पड़ाव में बहुचर्चित पूनम पांडे हत्याकांड हुआ था। पुलिस ने जांच की हर थ्योरी पर काम किया, लेकिन पुलिस की हर थ्योरी फेल होती चली गई। हर बार नये सिरे जांच की गई, लेकिन पुलिस के हाथ हर बार खाली रहे। हत्याकांड पिछले साल 27 अगस्त को हुआ था। फिर से अगस्त आने वाला है। हत्याकांड को खुलासा भले ही नहीं हुआ हो, लेकिन पुलिस एक साल बाद भी वही दावा कर रही है, जो उसने हत्याकांड के दिन किया था कि इसका खुलासा जल्द कर दिया जाएगा।

2018 में 27 अगस्त को हुआ था हत्याकांड

पिछले वर्ष 27 अगस्त को गोरापड़ाव क्षेत्र में अज्ञात बदमाशों ने एक जघन्य हत्याकांड को अंजाम दिया गया था। बदमाशों ने एक घर में हमला बोलकर पूनम पांडे नाम की महिला की दर्दनाक हत्या कर दी थी। पूनम पांडे की बेटीको भी गंभीर रूप से घायल कर दिया था, बदमाश पूनम पांडे के घर से स्कूटी और अन्य सामान लेकर फरार हो गए थे।

खुलासे के लिए बनी थी 24 टीमें

इस हत्याकांड के खुलासे के लिए एसटीएफ के साथ ही नैनीताल पुलिस ने 24 से अधिक टीमें बनाई गई थी। सैकड़ों लोगों से पूछताछ की गई। नार्को टेस्ट किया गया। बावजूद हत्याकांड का आज तक खुलासा नहीं हो पाया। हत्याकांड को 1 साल होने जा रहा है।

कर देंगे खुलासा

डीआईजी जगतराम जोशी भी मान रहे हैं कि हत्याकांड को काफी समय होने के बाद भी खुलासा नहीं हुआ। साथ ही यह दावात भी कर रहे हैं कि इस केस की दोबारा से विशेष टीम से गहनता से जांच कराकर मामले को जल्द खुलासा कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि पुलिस ने अब तक जो भी जांच की, उनको गहनता से अध्ययन किया जाएगा। उसके बाद फिर से जांच कराई जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here