बर्फबारी पर सियासत, इंदिरा बोलीं-भाजपा को घर-घर जाने की पड़ी, ऐसा बिल लाए ही क्यों जो लोगों को समझाना पड़ रहा

हल्द्वानी : देश में हो रही भारी बर्फबारी की मुसीबत ने सरकार के खिलाफ विपक्ष को सवाल उठाने का मौका दे दिया है पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल के बाद अब नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने भी सरकार की तैयारियों पर सवाल उठाए हैं।

सरकार को तैयारी करने का मौका तब मिले जब…-इंदिरा

नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने कहा की मौसम विभाग की चेतावनी से भी सरकार ने सबक नहीं लिया। इतनी भारी बर्फबारी होने के बाद भी सरकारी मशीनरी को बर्फीले इलाकों पर नहीं लगाया गया। आज भी प्रदेश के कई जिलों में कई मोटर मार्ग और संपर्क मार्ग बंद हैं, कई गांवों का संपर्क टूटा हुआ है और बिजली पानी की समस्या से लोगों को दो चार होना पड़ रहा है। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने राज्य सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि सरकार को तैयारी करने का मौका तब मिले, जब सरकार को सीएए के बारे में लोगों को समझाने से फुर्सत मिले, भाजपा को तो तीन करोड़ घरों में जाने की पड़ी है, ऐसा बिल लाये ही क्यों जो लोगों को अब घर-घर जाकर समझाना पड़ रहा है।

 

सतपाल महाराज का बयान

उधर पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज का कहना है कि उनको भी इतनी बर्फबारी की उम्मीद नहीं थी लेकिन पर्यटन के लिहाज से यह बर्फबारी सभी पर्यटक स्थलों में व्यापक पैमाने पर हुई है लिहाजा पर्यटन विभाग भी पर्यटकों के लिए विशेष सुविधाओं का ध्यान रख रहा है और बाहरी राज्यों से भी बड़ी संख्या में पर्यटक आ रहे हैंं। इस बर्फबारी से बर्फीले खेल यानी स्किंग की भी तैयारी की जा रही है और पर्यटन विभाग पर्यटकों को सुविधाएं प्रदान करने के लिए कटिबद्ध है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here