विधानसभा सत्र को लेकर पुलिस चौकस, जिलों के अन्दोलनकारियों की लिस्ट बनाने में जुटी

देहरादून- उत्तराखण्ड पुलिस महानिदेशक के. रतूड़ी की अध्यक्षता में राज्य के सभी जनपद प्रभारियों और परिक्षेत्र प्रभारियों के साथ वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से प्रदेश की कानून व्यवस्था सुधारने के सम्बन्ध में समीक्षा बैठक ली गई।

जिलों में आंदोलनकारियों की लिस्ट जुटाने में लगी पुलिस

डीजीपी अनिल के. रतूड़ी ने कहा कि आगामी होने वाले विधानसभा सत्र में शान्ति एवं कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिये जनपद प्रभारी अपने-अपने जनपदों में अन्दोलनकारियों की सूचना स्थानीय अभिसूचना के माध्यम से एकत्रित कर पुलिस मुख्यालय उपलब्ध कराये और साथ ही सभी जनपद प्रभारियों को वर्ष 2016 की अपेक्षा में वर्ष 2017 में जघन्य अपराधों जैसे हत्या, लूट डकैती में कमी होने पर इसी प्रकार वर्ष 2018 में भी अपराधों में कमी लाये जाने के सम्बन्ध में निर्देशित किया।

कुख्यात गैंग व उनके सदस्यों की भी लिस्ट जुटाएगी पुलिस

अपर पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने कहा कि कुख्यात गैंग व उनके सदस्यों, कुख्यात अपराधियों के विरुद्घ न्यायालयों में चल रहे मुकदमों के दौरान उनकी पैरवी के लिए कार्यवाही करने हेतु जनपद प्रभारी, क्षेत्राधिकारी एवं थानाध्यक्ष स्तर के अधिकारी नियुक्त किये जाये। इसके अतिरिक्त नशीले पदार्थों की तस्करी करने वालों पर रोकथाम के लिए सभी जनपदों में एन्टी ड्रग्स स्क्वाड का गठन किया जाये।

बैठक में जनपद प्रभारियों को निम्न बिन्दुओं पर निर्देशित किया गयाः-

1- राज्य में वर्ष 2018 में अपराधिक स्थिति की शीर्षकवार समीक्षा कर जनपदों को गृहभेदन, वाहनचोरी, चैन स्नैचिंग आदि अपराधों पर कार्ययोजना बनाकर नियन्त्रण करने हेतु निर्देशित किया गया।

2- निकट भविष्य में आने वाले विधान सभा सत्र-2018 के दौरान विशेष सतर्कता बरतने तथा संवेदनशील स्थानों पर आवश्यक पुलिस प्रबन्ध करने हेतु निर्देशित किया गया।

3- ड्रग्स के दुष्प्रभाव के सम्बन्ध में युवाओं एवं अभिभावकों को जागरुक करते हुये ड्रग्स माफियाओं का चिन्हीकरण कर उनके विरुद्ध कड़ी वैधानिक कार्यवाही की जाये।

4- चारधाम यात्रा के टूरिस्ट, पर्यटन पुलिस हेतु माह अप्रैल-2018 के प्रथम सप्ताह में पुलिस महानिदेशक की अध्यक्षता में एक कार्यशाला आयोजित की जायेगी तथा हिल-पट्रोल यूनिट की स्थापित करने तथा उपयोगिता बढाने हेतु भी निर्देशित किया गया।

5- स्मार्ट पुलिसिंग पर जोर देते हुये जनपद प्रभारियों को सीसीटीवी मैपिंग कराये जाने हेतु भी निर्देशित किया, व साथ ही अपराधों में कमी लाने के लिए स्थानीय लोगों को सीसीटीवी लगाने हेतु जागरुक करने की बात कही गई।

6- शिकायती प्रार्थना-पत्रों की जांच की गुणवत्ता पर गम्भीरता से ध्यान देते हुये उनका समय से निस्तारण किये जाने हेतु भी निर्देशित किया गया।

वीडियो कान्फ्रेसिंग के दौरान अशोक कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, वी विनय कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक, अभिसूचना/सुरक्षा, दीपम सेठ, पुलिस महानिरीक्षक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, संजय गुंज्याल, पुलिस महानिरीक्षक, पी/एम, अमित सिन्हा, पुलिस महानिरीक्षक, संचार, एपी अंशुमन पुलिस महानिरीक्षक, पीएसी, जीएस मार्तोलिया, पुलिस महानिरीक्षक मुख्यालय, केवल खुराना, पुलिस उप-महानिरीक्षक/निदेशक यातायात, उत्तराखण्ड उपस्थित रहे।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here