चार धाम यात्रा के दौरान मौतों पर PMO गंभीर, सीएम ने लिया ये फैसला

CM DHAMI

चार धाम यात्रा में श्रद्धालुओं की बड़ी संख्या को देखते हुए सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने चारों धामों में तीर्थयात्रियों के पंजीकरण में 1000 यात्रियों का इजाफा कर दिया है।

सीएम पु्ष्कर सिंह धामी ने कहा है कि धामों में तीर्थयात्रियों के पंजीकरण में 1000 यात्रियों की वृद्धि की गई है। वहीं सरकार ने अब यात्रा के लिए पंजीकरण को अनिवार्य कर दिया है।

पंजीकरण का सत्यापन कराना अनिवार्य होगा। इसके लिए सभी पुलिस चौकियों को निर्देश दिए गए हैं। सत्यापन का काम कड़ाई से किया जाएगा। किसी भी संदिग्ध को चार धाम यात्रा की अनुमति नहीं मिल पाएगी।

सरकार के इस रुख से साफ है कि आने वाले दिनों में चार धाम यात्रा के लिए आने वालों की संख्या को नियंत्रित किया जाएगा। निश्चित संख्या में ही यात्रियों को धामों में जाने की अनुमति दी जाएगी। नियत संख्या से अधिक श्रद्धालु होने पर उन्हें धाम में जाने की इजाजत नहीं मिलेगी।

आपको बता दें कि इस संबंध में पहले भी सरकार ने नियम बनाए थे लेकिन पंडा पुरोहितों के विरोध के बाद इस आदेश को लेकर सख्ती नहीं बरती जा रही थी लेकिन अब लग रहा है कि सरकार सख्ती बरतेगी।

वहीं राज्य में चार धाम यात्रा के दौरान महज आठ दिनों में 20 यात्रियों की मौत ने प्रधानमंत्री कार्यालय को भी चिंता में डाल दिया है। जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री कार्यालय ने इस संबंध में चिंता जाहिर की है और व्यवस्थाओं को दुरुस्त किए जाने की उम्मीद की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here