पीएम मोदी ने कहा, देवभूमि में 4 धामों के अलावा है पांचवा धाम ‘सैनिक धाम’

उधम सिंह नगर (मोहम्मद यासीन )उत्तराखण्ड में भाजपा की विजय शंखनाद रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जमकर हुंकार भरी। प्रधानमंत्री ने उत्तराखण्ड के विकास, पर्यटन और स्थानीय समस्याओं से लेकर पिछली सरकारों के कार्यकाल में बढ़ते आतंकवाद, सेना की दुर्दशा और अन्य राष्ट्रीय मुद्दों पर भी जनता से सीधा संवाद स्थापित किया। उन्होंने उत्तराखण्ड को चार धामों के अतिरिक्त पांचवें धाम सैनिक धाम की भूमि बताया।

उत्तराखण्ड के ऊधम सिंह नगर के रुद्रपुर में भाजपा की विजय शंखनाद रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हजारों की विशाल रैली को सम्बोधित किया। मंच से हुंकार भरते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि कोंग्रेस के नेता देश के युवाओं को रोजगार दिलाने के स्थान पर एक परिवार के एक बेरोजगार का रोजगार पक्का करने के मिशन में जुटे रहे।

देवभूमि में एक पांचवां धाम सैनिक धाम भी है- पीएम मोदी

प्रधानमंत्री ने नमामि गंगे, आस्था एवम पर्यटन, उद्योगों को बढ़ावा, इफ्रास्ट्रक्चर जैसी योजनाओं पर चल रहे कार्यों को अपने संबोधन में शामिल किया। उन्होंने कहा कि 4 धामों के 2 धाम बद्रीनाथ और केदारनाथ उत्तराखण्ड में हैं, लेकिन यहां एक पांचवां धाम सैनिक धाम भी है। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड देवभूमि में इंडियन मिलिट्री एकेडमी है, राष्ट्रीय इंडियन मिलिट्री कॉलेज है और गढ़वाल राइफल्स, कुमाऊं रेजिमेंट एवम गोरखा राइफल्स का केंद्र भी यही देवभूमि है। उन्होंने कहा कि देवभूमि में हर दूसरा घर सैनिक का है।

अपने चिर-परिचित अंदाज में प्रधानमंत्री जनता से सवाल करने में नहीं चूके। उन्होंने विपक्ष द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर सेना को कटघरे में खड़ा करने पर सवाल किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि अब से पहले आतंकवादी देश के नागरिकों और हमारी सेना के जवानों का खून बहा रहे थे, लेकिन कोंग्रेस की सरकार का कभी खून नहीं खौला। सेना हथियारों और अन्य युद्ध सामग्री की कमी से जूझ रही थी, लेकिन कोई सुनने वाला नहीं था। उन्होंने कहा कि सेना को जवाबी कार्यवाही की इजाजत तो दूर उल्टे सेना के अधिकारियों पर मुकदमे कर दिये जाते थे। मलाई न मिल पाने के कारण सेना के लिये खरीदी जाने वाली सामग्री के सौदे रोके जा रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here