उत्तराखंड: 11 हजार फीट की ऊंचाई पर कार से सफर करेंगे लोग, जल्द पूरा होगा सड़क निर्माण

पिथौरागढ़: रक्षा मंत्री अजय भट्ट 11 हजार फीट की ऊंचाई पर आयोजित तीन दिवसीय शिवोत्सव में शिरकत करने पहुंचे। इस दौरान रक्षा राज्य मंत्री ने भारत-चीन सीमा पर कैलाश मानसरोवर यात्रा मार्ग का निरीक्षण भी किया। उन्होंने बीआरओ द्वारा किए जा रहे सड़क निर्माण कार्यों की भी समीक्षा की। केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट ने राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर गुंजी में आयोजित सरदार वल्लभ भाई पटेल जयंती पर राष्ट्रीय एकता दिवस के कार्यक्रम में भी प्रतिभाग किया।

आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने पर अमृत महोत्सव के अंतर्गत 75 राष्ट्रीय ध्वज भी फहराया गया। सेना के हेलीकॉप्टर से गुंजी पहुंचने पर केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट का क्षेत्र के कांग्रेसी विधायक हरीश धामी, जिलाधिकारी समेत सेना, बीआरओ और रंग कल्याण संस्था के सदस्यों ने स्वागत किया। इसके बाद रक्षा राज्य मंत्री बीआरओ कैंप में पहुंचे, जहां पर कर्नल एनके शर्मा ने मंत्री को सड़क निर्माण की जानकारी दी।

गुंजी के बीआरओ कैंप में रक्षा राज्य मंत्री कहा कि अब वह दिन दूर नहीं, जब लोग कार से कैलाश मानसरोवर यात्रा कर सकेंगे। क्योंकि सीमा सड़क संगठन द्वारा तेज गति से कैलाश मानसरोवर मार्ग में सड़क के निर्माण कार्य किया जा रहा है। उन्होंने आपदा प्रभावित क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों के बारे में भी जानकारी ली.उन्होंने कहा कि इस आयोजन के जरिये जहां सीमांत क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। साथ ही आदि कैलाश और ओम पर्वत के यात्रियों के लिए मार्ग खुल जाएगा। उन्होंने कहा कि देश के लेह लद्दाख के ओम लिंगला तक विश्व की सबसे ऊंचे स्थान तक बीआरओ द्वारा सड़क का निर्माण किया गया है।

उन्होंने कहा कि लिपुलेख से पहले तक बीआरओ द्वारा सड़क मार्ग का निर्माण कर लिया गया हैं। शीघ्र ही इस मार्ग में डामरीकरण भी कर लिया जाएगा, जिसके लिए 60 करोड़ की धनराशि स्वीकृत कर ली गई है। उन्होंने कहा कि अमरनाथ यात्रा की तर्ज पर आदि कैलाश और ओम पर्वत यात्रा मार्ग सुविधाएं बढ़ाते हुए यात्रा कराई जाएगी. उन्होंने कहा कि दारमा, व्यास, चौदास और जौहार घाटी क्षेत्र में माइग्रेशन के दौरान अतिरिक्त खाद्यान्न का कोटा बढ़ाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि सीमांत के वासी देश के प्रहरी के रूप में कार्य कर रहे हैं, इन क्षेत्रों में आवश्यक सुख-सुविधाएं बढ़ाने के साथ रोजगार के क्षेत्र में कार्य कराया जा रहा है। वहीं, राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर रक्षा राज्य मंत्री ने गुंजी के मनेला में आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत तिरंगा फहराकर राष्ट्रगान गाया और राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलाई गई, जिसमें 75 राष्ट्रीय ध्वज और 75 जवान के अतिरिक्त सेना, एसएसबी और आईटीबीपी के जवानों, अधिकारियों ने हिस्सा लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here