पेटीएम के साथ कुछ यूं जुड़ गया उत्तराखंड का नाम, पढ़िए खबर

नयी दिल्ली। उत्तराखंड की एक बिटिया ने एक बार फिर सूबे का नाम रौशन किया है। चमोली जिले की रेनू सती ऑनलाइन वॉलेट कंपनी पेटीएम पेमेंट बैंक की सीईओ बनी हैं। आरबीआई ने पेटीएम पेमेंट बैंक के पहले सीईओ के रूप में 41 वर्षीय रेनू के नाम पर मुहर लगाई है।
रेनू गौचर के पास झालीमठ गांव की मूल निवासी हैं। फिलहाल वह अपनी मां के साथ दिल्ली में रहती हैं। नोटबंदी के बाद ऑनलाइन पेमेंट के रूप में बेहतर विकल्प देने वाली कंपनियों में शामिल पेटीएम ब्रांड के साथ पिछले 13 सालों से जुड़ीं रेनू ने अपना प्रोफेशनल कॅरियर में पहला बड़ा मुकाम तब मिला था, जब वह 2003 में मदर डेयरी के साथ बतौर एचआर जुड़ीं। इसके बाद वह मैनपॉवर समूह के एचआर डिपार्टमेंट में असिस्टेंट मैनेजर बनीं। वन-97 कम्यूनिकेशन के साथ उनका नाता सितम्बर 2009 से जुड़ा। जहां वह सीढ़ी दर सीढ़ी तरक्की करती हुईं एसोसिएट्स वाइस प्रेसीडेंट-कॉरपोरेट डेवलेपमेंट के जिम्मेदार पद पर पहुंचीं। इसी कंपनी के साथ बतौर वाइस प्रेसीडेंट वह पिछले तीन साल से काम कर रही थीं। पेटीएम का संचालन करने वाली इस कंपनी ने हाल में पेटीएम पेमेंट बैंक के नाम से नया बिजनेस शुरू किया है। जो 23 मई को लांच किया जाएगा। सीईओ के नाम के लिए अन्य दावेदारों के मुकाबले रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने रेनू के वजनदार प्रोफाइल को देखते हुए उनके नाम पर सहमति जताई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here