पार्टी बदली, चेहरे बदले लेकिन नहीं बदली वर्दी….तस्वीर देहरादून परेड ग्राउंड की

देहरादून : देश में कई पार्टियां बदली और कई चेहरे बदले…कई पार्टियां आई औऱ कई पार्टियां गई, कई जगह बदली कइयों के शब्द भाषण बदले लेकिन इन सभी के बीचे कुछ ऐसे चेहरे हैं जो खाकी रंग की वर्दी धारण कर हर समय हर जगह जनता की देखरेख सेवा के लिए तैनात रहते हैं. जगह बदल जाए, पार्टियां बदल जाए या चेहरे बदल जाए लेकिन एक वर्दी ही है जो कभी नहीं बदलती…वहीं रंग, वहीं कर्तव्य, वहीं मुश्किल परिस्थिति में सामना करने का हुनर औऱ वहीं जनता के साथ मित्रता…उत्तराखंड पुलिस को मित्र पुलिस कहते हैं और आप ये फोटो देखकर अंदाजा लगा सकते हैं कि क्यों उत्तराखंड देवभूमि की पुलिस को मित्र कहा जाता है. हालांकि कई वर्दी धारियों ने वर्दी को कलंकित करने का काम किया लेकिन ऐसे पुलिसकर्मियों ने जनता के मन में वर्दी की अच्छी छाप छोड़ी जिसे राज्य समेत विदेशी पर्यटकों ने भी सराहा औऱ उनको सम्मानित भी किया.

महिला पुलिस कर्मी नहीं पीछे

उत्तराखंड पुलिस विभाग में सिर्फ पुरुष ही नहीं बल्कि महिला पुलिस कर्मी भी बढ़चढ़ भर्ती में हिस्सा ले रही हैं औऱ आज कई महिला अफसर से लेकर महिला कर्मचारी उत्तराखंड पुलिस का हिस्सा हैं…जो की लाल-काले जूते औऱ लाल-काली बैल्ट लगाए पुरूषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर ड्यूटी करती आ रही हैं.

हमने कई रैलियां देखीं, कई जनसभाएं होती देखीं, धरने होते देखे, लेकिन

हमने कई रैलियां देखीं, कई जनसभाएं होती देखीं, धरने होते देखे, हड़ताल होती देखी और उनके सामने कैमरे औऱ कई आई डी लिए पत्रकारों को भी देखा लेकिन धरना खत्म होने के बाद ना वहां कोई नेता मिलता है औऱ न ही पत्रकार लेकिन वर्दी धारी ही है जो उसके बाद भी अपनी ड्यूटी के लिए कही औऱ अपने आशीयाने की तलाश में या जहां उसका आशीयान(ड्यूटी स्थल) बांधा हो-निश्चित किया हो वहां चला जाता है…जहां वो दिन भर चाहे धूप हो या छाओं, गर्मी हो या सर्दी तैनात रहता है.

ये तस्वीर हमें दून पुलिस के फेसबुक पेज से मिली है

ये तस्वीर हमें दून पुलिस के फेसबुक पेज से मिली है…इस फोटो को देखकर आप अंदाजा लगा सकते हैं कि मित्र पुलिस किसे कहते हैं…ड्यूटी के साथ लोगों को सम्मान देना ही मित्र पुलिस की पहचान है जिससे जनता भी उनकी वाहवाही करती है. आज देहरादून के परेड ग्राउंड में राहुल गांधी की जनसभा है औऱ ऐसे में अभी से वहां उनके समर्थक जुटने लगे हैं औऱ साथ ही वो सभी वर्दी धारी भी तय समय से दो-तीन घंटे पहले ड्यूटी स्थल पर पहुंचे औऱ उन्होंने सिर्फ अपने स्थल में तैनाती ही नहीं बल्कि बूढ़े-बुजुर्गों का ध्यान भी रखा…बुजुर्गों को उनके स्थल तक पहुंचाया. ये तस्वीर देख कर गर्व होता है वर्दी पर और अपने उत्तराखंड और उत्तराखंड पुलिस पर.

हमेशा दृढ़ता से ड्यूटी में तैनात रहकर हमेशा कर्तव्य का पालन करने वाले उत्तराखंड की महिला और पुरुष पुलिस कर्मियों को खबर उत्तराखंड की ओर से सलाम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here