उत्तराखंड में एक और गजब का कारनामा आया सामने, मुर्दों को दी जा रही पेंशन!

ऊधमसिंहनगर : समाज कल्याण विभाग का एक और नया कारनामा सामने आया है. विभाग ने करीब 450 वृद्धावस्था पेंशन धारकों के खाते में पेंशन भेजी है। जिनकी कई महीन पहले मौत हो चुकी है। अब विभाग इस रकम को वापस लेने की तैयारी कर रहा है। ये रकम करीब 47 लाख रुपए के आसपास है। इसके पीछे की वजह सत्यापन नहीं होना बताया जा रहा है। दरअसल, मृतकों का सत्यापन नहीं होने के कारण विभाग पिछले कई सालों से उनके बैंक खातों में वृद्धावस्था पेंशन भेज रहा था, जिनकी मौत हो चुकी है.

मामले का खुलासा होने के बाद विभाग ने 450 पेंशन धारकों के खातों से करीब 40 लाख रुपए वापस लेते हुए ट्रेजरी में जमा कर दिए हैं। वहीं जिला समाज कल्याण अधिकारी नवीन भारतीय के मुताबिक ये मामला उसके कार्यकाल से पहले का है लेकिन इसका संज्ञान लेते हुये उनके द्वारा 40 लाख रुपए 10 दिसम्बर 2018 में जमा करा दिए गए थे। जबकि जनवरी 2019 से अब तक लगभग 8 लाख रुपए मृतकों के बैंक खातों में पेंशन के तौर पर जमा कराए गए थे वो भी वापस आ गये है।

जिंदा समझकर उनके खाते में भेजते रहे पेंशन 

जिला समाज कल्याण अधिकारी का मानना है कि सत्यापन न होने के चलते विभाग ऐसे करीब 450 खातों में पेंशन भेजता रहा. जिनकी कई माह पहले मौत हो चुकी थी।जिला समाज कल्याण अधिकारी के मुताबिक, जिले में लगभग 63 हजार वृद्धावस्था पेंशन धारक है. ऐसे में किसी धारक की मौत हो जाती है, लेकिन उनके परिजन विभाग को इसकी सूचना नहीं देते है. जिसका कारण विभाग उन्हें जिंदा समझकर उनके खाते में पेंशन भेजता रहता है. जिले में लगभग 450 से 500 के बीच ऐसे पेंशन धारक है, जिनके बैंक खातों में पेंशन पहुंच रही थी. जिसमें से 40 लाख से अधिक रकम वापस ट्रेजरी में जमा कर दी गयी है, बाकी 7 रुपए की रकम भी ट्रेजरी में जमा की जा रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here