13 तारीख को जनता बैंकों के बाहर लाइन में रहेगी या बन्नू स्कूल में शाह को सुनेगी ?

देहरादून- परिवर्तन यात्रा को लेकर भाजपा ने कमर कस ली है। आज देहरादून में पार्टी मुख्यालय में रथों के पूजन और उत्तराखंड राज्य शहीदों को श्रद्धांजलि देने के साथ ही भाजपाई 13 तारीख के लिए तैयार हो गए हैं। जगह-जगह पार्टी के पदाधिकारियों के बैनर लगे हैं जिसमें जनता से अपील की गई है चलो देहरादून। दरअसल 13 तारीख को बन्नू स्कूल मैदान में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह रैली को संबोधित करेंगे। जनसभा की समाप्ति के पश्चात राष्ट्रीय अध्यक्ष परिवर्तन यात्रा के वातानुकूलित रथों को हरी झंडी दिखाकर जनता में परिवर्तन की भावना जगाने के लिए उनके गंतव्यों की ओर रवाना करेंगे। सबसे दिलचस्प बात ये है कि आजकल सूबे की जो जनता अपने 500 और 1000 के नोट बदलवाने के लिए बैंकों
के बाहर लंबी कतार में खड़ी है ताकि घर-गृहस्थी,दवा पानी का जुगाड़ हो सके वो पब्लिक क्या अमित शाह के भाषणों को सुनने के लिए आएगी। माना जा रहा है कि नोट बदलवाने की आपाधापी के बीच परिवर्तन यात्रा का रंग कुछ फीका रह सकता है। तय है कि अगर शाह की जनसभा में पार्टी के पदाधिकारी मनमाफिक भीड़ न जुटा पाए तो परिवर्तन यात्रा का शुरूआती स्टेप ही ‘पहला गास और बर्तन में मक्खी’ वाला हिसाब हो सकता है। ऐसे में रैली की नाकायाबी का ठीकरा किससे सिर फूटेगा। आलाकमान के उस फैसले के सिर, जिसने जनता को रैली के बजाए बैंकों के बाहर खड़ा करवा दिया है या स्थानीय नेताओं के सिर जो चाहकर भी किराए की भीड़ नहीं जुटा पाएंगे। होगा क्या ये तो 13 तारीख ही बताएगी,लेकिन कानाफूसी हो रही है कि भाजपा के स्थानीय क्षत्रपों के धड़कने तेज है और वे कामयाबी के लिए अपने-अपने इष्ट देवताओं से मन्नत भी मांग रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here