उत्तराखंड : तीन विभागों के अधिकारी करते रहे झूठे वादे, लोगों ने खुद बना डाली सड़क

 

देहरादून: नगर निगम, लोनिवि, एमडीडीए ने नहीं सुनी तो बद्रीपुर के आरकेपुरम इलाके में लोगों ने चंदा एकत्र कर सड़क बना दी। यही नहीं, कॉलोनी में रहने वाले डॉक्टर, शिक्षक और रिटायर अफसरों ने खुद भी श्रमदान कर सड़क बनाने में योगदान दिया। सिस्टम की अनदेखी की शिकार यह कॉलोनी विधानसभा से महज तीन-चार किमी दूर है।

यहां रहने वाले वरिष्ठ फिजीशियन डा. एसडी जोशी, चकराता पीजी कॉलेज के प्राचार्य डा. केएल तलवार, वन विभाग से रिटायर रेंजर काशी सिंह समेत कई लोगों ने सड़क बनवाने अपना योगदान दिया। कॉलोनी में 300 मीटर सड़क काफी समय से खस्ताहाल थी। कॉलोनी के लोग एक साल से अधिक समय से सरकारी दफ्तरों को चक्कर काट रहे थे।

सिस्टम के झूठे आश्वासनों से हारकर उन्होंने 1600 रुपये प्रति परिवार चंदा इकट्ठा कर ठेकेदार से रविवार को यह सड़क बनवा दी। खुद भी श्रमदान किया। राजधानी की पॉश कॉलोनी में सिस्टम की अनदेखी से लोगों में गुस्सा है। उनका कहना है कि जब राजधानी में इस तरह व्यवहार किया जाता है तो दूरस्थ इलाकों में क्या हाल होगा, यह समझा जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here